मणिपुर, मणिपुर में असम राइफल के कमांडिंग अफ़सर(CO) और उनके परिवार पर आज आत्मघाती हमला ( Manipur Attack ) किया गया है. यह हमला आज सुबह 10 बजे हुआ, 46 असम रायफल के कमॉडिंग अफ़सर अपने परिवार और QRT टीम के साथ जा रहे थे. खबरों की मुताबिक इस हमले में असम राइफल के कमांडिंग अफसर, उनकी पत्नी, एक बच्चा और क्यूआरटी में तैनात 4 जवान शहीद हो गये.

मणिपुर के मुख्यमंत्री ने की हमले की कड़ी निंदा

मणिपुर में आज असम राइफल के कमांडिंग अफ़सर और उनके परिवार पर आत्मघाती हमला हुआ है, इस हमले में असम राइफल के कमांडिंग अफसर, उनकी पत्नी, एक बच्चा और क्यूआरटी में तैनात 4 जवानों की भी मौत हो गई है.
मणिपुर के मुख्यमंत्री नोंगथोम्बम बीरेन सिंह ने इस हमले की कड़ी निंदा करते हुए कहा है कि ‘इस तरह के कायराना कृत्य करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा. वह दोषियों पर कानूनी कार्रवाई करने की पूरी कोशिश करेंगे. यह अमानवीय और आतंकी कृत्य है. राज्य बल और अर्द्धसैनिक बल उग्रवादियों को पकड़ने के लिए तेजी से काम कर रहे हैं.’

कब हुआ ये हमला

जब हमला हुआ तब अधिकारी अपने परिवार के सदस्यों और क्विक एक्शन टीम के साथ यात्रा करे थे. वे अपने फॉरवर्ड कंपनी बेस से अपने बटालियन मुख्यालय लौट रहे थे. बता दें कि कर्नल त्रिपाठी ने पहले मिजोरम में सेवा दी थी और जुलाई 2021 में मणिपुर में उनका स्थानांतरण हो गया था.

प्रधानमंत्री ने की इस हमले की निंदा

मणिपुर में असम राइफल के कमांडिंग अफ़सर पर हुए आतंकी हमले की प्रधानमंत्री मोदी ने सख्त निंदा की है. साथ ही, उन्होंने इस हमले में हुए शहीद हुए जवानों और उनके परिजनों को श्रद्धांजलि दी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर लिखा,
“मणिपुर में असम राइफल्स के काफिले पर हमले की कड़ी निंदा करता हूं। मैं उन सैनिकों और उनके परिवार के सदस्यों को श्रद्धांजलि देता हूं जो आज शहीद हुए हैं। उनके बलिदान को कभी नहीं भुलाया जा सकेगा। दु:ख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं.’

रक्षा मंत्री ने की इस हमले की निंदा

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath Singh) ने भी इस हमले की निंदा की है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि ‘मणिपुर के चुराचांदपुर में असम राइफल्स के काफिले पर कायराना हमला बेहद दुखद और निंदनीय है. देश ने 46वीं असम राइफल्स के सीओ समेत पांच बहादुर सैनिकों और उनके परिवार के दो सदस्यों को खो दिया है. राजनाथ सिंह ने कहा कि शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं. दोषियों को जल्द ही न्याय के कटघरे में लाया जाएगा.’

यह भी पढ़ें :

CDS Bipin Rawat on China: भारत के लिए चीन सबसे बड़ा खतरा, किसी भी दुस्साहस से निपटने को तैयार- CDS बिपिन रावत

Akhil Bhartiya Rajbhasha Sammelan हमें राजभाषा को मजबूत करने की जरूरत : शाह

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर