अगरतला. त्रिपुरा में आने वाले दिनों में चुनाव होने हैं इसे लेकर चुनावी बयानबाजी भी तेज हो गई है. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी की तरफ से मोर्चा संभाला हुआ है वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी त्रिपुरा का दौरा कर माणिक सरकार पर निशाना साध चुके हैं. ऐसे में राज्य के मुख्यमंत्री माणिक सरकार ने बीजेपी पर पलटवार किया है. माणिक सरकार ने कहा कि बीजेपी चुनाव जीतने के लिए अलगाववादी ताकतों के साथ समझौता कर आग से खेल रही है.

न्यूज़ 18 को दिए इंटरव्यू में माणिक सरकार ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले हफ्ते अगरतला में चुनावी रैली को लेकर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि पीएम ने जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल मेरे लिए किया है त्रिपुरा के लोग ऐसे संबोधन को स्वीकार नहीं करेंगे. उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी एक कमजोर प्रधानमंत्री हैं. बता दें कि अगरतला रैली में पीएम मोदी ने कहा था कि अब लोगों को ‘माणिक’ को हटाकर ‘हीरा’ को मौका देना चाहिए. उनका इशारा माणिक सरकार की तरफ था.

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह बात आश्चर्य पैदा करती है कि जो पार्टी केंद्र में शासन कर रही है वो महज चुनावी जीत के लिए राज्य की जनजातीय पार्टी इंडीजिनस पीपुल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (आईपीएफटी) के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ रही है. माणिक सरकार ने बीजेपी-आईपीएफटी के इस गठबंधन को मौकापरस्त करार दिया. त्रिपुरा की 60 विधानसभा सीटों के लिए यहां 18 फरवरी को चुनाव होना है. बीजेपी यहां आईपीएफटी के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है. यहां चुनावी रैली में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी सीपीआई (एम) सरकार पर जमकर निशाना साधा था. उन्होंने कहा था कि लाल भाइयों ने मिलकर राज्य को लूटा है. इसके साथ ही उन्होंने कहा था कि वक्त है अब भी संभल जाओ. बीजेपी चुनाव में हिंसा से नहीं डरती.

त्रिपुरा में बोले बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह- CPM वालो संभल जाओ, बीजेपी हिंसा से नहीं डरती

त्रिपुरा विधानसभा चुनाव 2018: कांग्रेस ने जारी की उम्मीदवारों की सूची