कोलकाता: पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की रैली के दौरान हुई हिंसा के बाद चुनाव आयोग की पश्चिम बंगाल की 9 संसदीय क्षेत्रों में चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी है. यही नहीं आयोग ने राज्य के प्रधान सचिव और गृह सचिव की छुट्टी कर दी है और बंगाल के एडीजी और सीआईडी राजीव सिंह को गृह मंत्रालय बुलाया गया है. अब पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव गृह विभाग की देखरेख करेंगे. चुनाव आयोग के फैसले से पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी बौखला गई हैं.

उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सीधे-सीधे चुनाव आयोग पर आरोप लगा दिया है कि वो अमित शाह और पीएम नरेंद्र मोदी के इशारों पर काम कर रही है. ममता बनर्जी ने कहा कि नरेंद्र मोदी और अमित शाह के इशारे पर चुनाव आयोग ने चुनाव प्रचार पर रोक लगाई है. उन्होंने रैली के दौरान हुई हिंसा का आरोप भी अमित शाह पर लगाते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि रैली में हिंसा अमित शाह की वजह से हुई. उन्होंने चुनाव आयोग से सवाल पूछा कि अमित शाह को चुनाव आयोग ने नोटिस क्यों नहीं दिया?

ममता बनर्जी ने सीधे-सीधे बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर आरोप लगाते हुए कहा कि अमित शाह दंगा करवाने के मूड से ही आए थे और बीजेपी ने ही ईश्वर चंद विद्यासागर की मूर्ति भी तोड़ी. टीएमसी ने ममता बनर्जी के इस दावे के साथ ही एक वीडियो भी जारी किया है जिसमें दावा किया जा रहा है कि मूर्ति तोड़ने वाला कोई और नहीं बल्कि बीजेपी का विधायक था. ममता बनर्जी ने आरोप लगाया कि अमित शाह ने चुनाव आयोग को धमकी दी जिसके बाद चुनाव आयोग ने बंगाल में चुनाव प्रचार पर रोक लगाने का फैसला किया.

चुनाव आयोग के फैसले के बाद जिन संसदीय क्षेत्रों में चुनाव प्रचार पर रोक लगी है, उनमें दम दम, बारासात, डायमंड हार्बर, बशीरहाट, जयनगर, मथुरापुर, जादवपुर, दक्षिण और उत्तरी कोलकाता शामिल हैं. चुनाव आयोग ने इन सीटों पर गुरुवार रात 10 बजे तक चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी.

Election Campaign Stoped Early in Bengal: ममता बनर्जी के पश्चिम बंगाल में चुनावी हिंसा पर इलेक्शन कमीशन सख्त, 19 घंटे पहले 16 मई रात 10 बजे से प्रचार बंद

West Bengal Violence BJP vs TMC: बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा- बंगाल में लोकतंत्र की हत्या हो रही है, चुनाव आयोग बना हुआ है मूकदर्शक

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App