Friday, December 9, 2022
गुजरात नतीजे (182/182)  हिमाचल नतीजे (68/68) 
BJP - 156 BJP - 25
AAP - 05 CONG - 40 
CONG - 17  AAP - 00
OTH - 04  OTH - 03 

 Green Tea पीने के फायदे जानकर, आज से पीना कर देंगे शुरू

0
Green tea benefits: ग्रीन टी (Green tea) से होने वालों फायदों को लेकर तमाम दावे किए जाते हैं. कुछ लोग कहते हैं कि ग्रीन...

इन सवालों से समझें पूरे गुजरात चुनाव का गणित: क्यों AAP का दिल्ली मॉडल...

0
गाँधीनगर: यदि गुजरात में इस ऐतिहासिक भाजपा जीत के पीछे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम के अलावा कोई महत्वपूर्ण कारण है, तो वह है...

Himachal Election Result 2022: अन्य के खाते में आई 3 सीटे, जाने किसने की...

0
शिमला: हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस ने शानदार प्रदर्शन करते हुए बीजेपी से आगे निकल गई है।कांग्रेस ने बहुमत का आंकड़ा पार कर लिया है।...

हिमाचल से जीतने के बाद कांग्रेस विधायकों की चंडीगढ़ में बैठक, राजस्थान या छत्तीसगढ़...

0
नई दिल्ली: हिमाचल प्रदेश के कांग्रेस विधायक दल की बैठक चंडीगढ़ में होगी। कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक पहले यहां चंडीगढ़ में जीते हुए विधायक...

Himachal Election Result 2022: कांग्रेस ने मारी बाजी, जाने हर सीट के नतीजे

0
शिमला: हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस शानदार प्रदर्शन करते हुए बीजेपी से आगे निकल गई है। कांग्रेस ने बहुमत का आंकड़ा पार कर लिया है।...

Maharashtra: मुंबई में आज ठाकरे और शिंदे गुट का शक्ति प्रदर्शन, अलग-अलग होगी दशहरा रैली

Maharashtra:

मुंबई। महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में आज बड़ा सियासी टकराव होगा। शिवसेना के दोनों गुट दशहरा रैली में शक्ति प्रदर्शन करेंगे। जहां एक ओर शिवाजी पार्क में उद्धव ठाकरे की रैली होगी, वहीं बीकेसी मैदान में सीएम एकनाथ शिंदे की रैली आयोजित होगी।

दोनों गुट दिखाएगा सियासी ताकत

शिवसेना के दोनों गुटों ने दशहरा रैली को लेकर तैयारियां कर ली हैं। उद्धव और शिंदे गुट ने इस रैली के राज्यभर से बड़े पैमाने पर कार्यकर्ताओं को बुलाया है। दोनों गुटों के बीच किसी तरह का टकराव न हो, इसलिए मुंबई पुलिस ने भी अपनी कमर कस ली है। शिवसेना में हुई बगावत के बाद ये पहली दशहरा रैली होगी।

पांच दशक से हो रही है ये रैली

बता दें कि शिवसेना पार्टी में दशहरा रैली का काफी महत्व है। पिछले पांच दशक से पार्टी का इतिहास इस रैली से जुड़ा हुआ है। शिवसेना संस्थापक बाला साहेब ठाकरे इसी रैली के जरिए हर साल अपनी भविष्य की योजनाओं को शिवसैनिकों को बताते थे। आज पार्टी में बगावत के बाद दोनों प्रतिद्वंदी गुट रैली की होने वाली रैली पर पूरे देश के सियासी पंडितों की नजर है।

ठाकरे गुट को मिला शिवाजी पार्क

गौरतलब है कि शिवसेना की पहचान मानी जाने वाली शिवाजी पार्क की दशहरा रैली को लेकर दोनों बागी गुटों ने काफी मशक्कत की। उद्धव और शिंदे दोनों गुट शिवाजी पार्क में ही ये रैली करना चाहता था। मामला हाई कोर्ट में गया तो अदालत ने उद्धव ठाकरे गुट के पक्ष में फैसला सुनाया। शिंदे गुट अब बांद्रा-कुला कॉम्प्लैक्स में अपनी रैली कर रहा है।

यह भी पढ़ें-

Russia-Ukraine War: पीएम मोदी ने पुतिन को ऐसा क्या कह दिया कि गदगद हो गया अमेरिका

Raju Srivastava: अपने पीछे इतने करोड़ की संपत्ति छोड़ गए कॉमेडी किंग राजू श्रीवास्तव

Latest news