Thursday, August 11, 2022

महाराष्ट्र: शिवसेना बागियों को मिलेगा इनाम! जानिए फडणवीस सरकार की संभावित कैबिनेट

महाराष्ट्र:

मुंबई। महाराष्ट्र की सत्ता से महाविकास अघाड़ी सरकार के हटने के बाद अब नई सरकार के गठन की कवायद शुरू हो गई। शिवसेना बागी विधायकों और बीजेपी गठबंधन की इस सरकार में कई नए और पुराने चेहरों को जगह मिलने की संभावना जताई जा रही है। बताया जा रहा है कि बागी शिंदे गुट के 12 विधायकों को मंत्रिपद मिल सकता है। जिसमें एक उपमुख्यमंत्री का पद भी शामिल है। संभावना जताई जा रही है कि एकनाथ शिंदे नई सरकार में उपमुख्यमंत्री बन सकते है।

आइए जानते है बीजेपी और शिंदे गुट की नई सरकार की संभावित कैबिनेट-

बीजेपी से मंत्री-

देवेंद्र फडणवीस (मुख्यमंत्री)
चंद्रकांत पाटिल
गिरीश महाजन
सुधीर मुनंगटीवार
गिरीश महाजन
प्रवीण दारेकर
आशीष शेलार
चंद्रशेखर बावनकुले
सुभाष देशमुख
संभाजी पाटिल निलंगेकर
राधाकृष्ण विखे पाटिल
मंगल प्रभात लोढ़ा
संजय कुटे
डॉ. अशोक उइके
रवींद्र चव्हाण
सुरेश खाडे
अतुल सावे
माधुरी मिसाल
रणधीर सावरकर
देवयानी फरांडे

शिंदे गुट से मंत्री-

एकनाथ शिंदे (उपमुख्यमंत्री)
गुलाबराव पाटील
उदय सामंत
दादा भुसे
अब्दुल सत्तार
संजय राठोड
शंभूराज देसाई
बच्चू कडू
तानाजी सावंत
दीपक केसरकर
संदीपान भुमरे
संजय शिरसाट
भरत गोगावले

इस दिन शपथ लेंगे फडणवीस

बता दें कि देवेंद्र फडणवीस के घर आज एक अहम बैठक हो रही है। जिसमें महाराष्ट्र भाजपा प्रभारी सीटी रवि, राज्य बीजेपी प्रमुख चंद्रकांत पाटिल के साथ कई बड़े बीजेपी नेता मौजूद है। बताया जा रहा है कि इस बैठक में सरकार गठन को लेकर चर्चा हो रही है। माना जा रहा है कि फडणवीस 1 या 2 जुलाई को सीएम पद की शपथ ले सकते हैं।

बीजेपी खेमे में बंटी मिठाइयां

महाराष्ट्र की राजनीति में बुधवार का दिन बेहद ऐतिहासिक रहा। तीन दलों के साथ पिछले 2.5 साल से सरकार चला रहे शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया। उनके इस ऐलान के साथ ही एक और जहां भाजपा खेमे में खुशियों की लहर दौड़ गई। पूर्व सीएम और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस बीजेपी कार्यकर्ताओं और नेताओं के साथ मिठाई खाते दिखे वहीं दूसरी तरफ शिवसेना भवन में सन्नाटा पसरा रहा।

सीएम ठाकरे ने दिया इस्तीफ़ा

गौरतलब है कि फ्लोर टेस्ट से पहले ही सीएम उद्धव ने कल अपनी कुर्सी छोड़ दी। आज महाविकास अघाड़ी सरकार को विधानसभा में फ्लोर टेस्ट के माध्यम से अपना बहुमत साबित करना था लेकिन इससे पहले ही उन्होंने अपना इस्तीफ़ा दे दिया। उन्होंने इसका ऐलान फेसबुक लाइव के दौरान किया।

India Presidential Election: जानिए राष्ट्रपति चुनाव से जुड़ी ये 5 जरुरी बातें

Latest news