मुंबई: महाराष्ट्र में बीजेपी के साथ बगावत रुख अपना रही शिवसेना के सामने एनसीपी ने भी सरकार बनाने के लिए शर्त रख दी है. एनसीपी ने कहा है कि अगर शिवसेना को अगर राजनीतिक विकल्प देखना है तो उसे पहले बीजेपी से अलग होना होगा. यानी एनसीपी ने साफ-साफ शब्दों में शिवसेना को कह दिया है कि नया गठबंधन करना है तो पुराना रिश्ता खत्म करना होगा. एनसीपी के सूत्रों के मुताबिक एनसीपी चाहती है कि केंद्र सरकार में शिवसेना के एक मात्र केंद्रीय मंत्री अरविंद सावंत इस्तीफा दें.

24 अक्टूबर को आए महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के रिजल्ट के बाद से शिवसेना और बीजेपी के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर खींचतान चल रही है. दोनों पार्टियों में से कोई भी झुकने को तैयार नहीं है जिसको लेकर राज्य में सरकार बनाने पर असमंजस की स्थिति बनी हुई है. एनसीपी प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि अगर बीजेपी शिवसेना को मुख्यमंत्री पद दे देती है तो इससे अच्छी बात तो हो ही नहीं सकती लेकिन अगर बीजेपी ऐसा करने से इनकार करती है तो उसे विकल्प दिया जा सकता है.

शर्त ये है कि शिवसेना को घोषणा करनी पड़ेगी कि उसका बीजेपी और एनडीए से अब से कोई संबंध नहीं होगा और वो गठबंधन तोड़ रही है. शरद पवार के सूत्रों के मुताबिक एनसीपी ने शिवसेना नेतृत्व से कहा है कि अगर उनसे गठबंधन करना है तो केंद्र सरकार में शिवसेना के इकलौते मंत्री अरविंद सावंत को इस्तीफा देना होगा. एनसीपी ने शर्त रखी है कि जब अरविंद सांवत सरकार से इस्तीफा देंगे तभी एनसीपी अपने पत्ते खोलेगी. अभी तक किसी पार्टी ने महाराष्ट्र में सरकार बनाने का दावा पेश नहीं किया है. एनसीपी जयंत पाटिल पहले ही कह चुके हैं कि शिवसेना और बीजेपी अगर सरकार बनाने में विफल हो जाती है तो एनसीपी सरकार बनाने के विकल्प तलाश करेगी. 

कुल मिलाकर गेंद अब शिवसेना के पाले में है कि वो एनडीए से समर्थन वापस लेकर एनसीपी और कांग्रेस गठबंधन के साथ मिलकर महाराष्ट्र में सरकार बनाती है या फिर केंद्र सरकार के साथ बनी रहती है. आने वाले कुछ दिन महाराष्ट्र की राजनीति के लिए खासे दिलचस्प होने वाले हैं.

Maharashtra Shiv Sena Chief Minister: महाराष्ट्र में बढ़ी शिवसेना बीजेपी में तनातनी, आदित्य ठाकरे फॉर CM के लगे पोस्टर, संजय राऊत ने कहा हमारा ही होगा मुख्यमंत्री

Sonia Gandhi Shiv Sena Support: सूत्रों का दावा- सोनिया गांधी ने किया महाराष्ट्र में शिवसेना को समर्थन देने से इनकार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App