नई दिल्ली. महाराष्ट्र में अभूतभूर्व घटनाक्रम के बाद बीजेपी के देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री पद की और एनसीपी के अजीत पवार उप मुख्यमंत्री पद की शपथ 23 नवंबर को 2019 को ली. लेकिन इसके बाद शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए. इस समय देखा जाए तो एनसीपी के अधिकांश एमएलए शरद पवार के साथ खड़े दिख रहे हैं. ऐसे में बीजेपी के लिए विधानसभा में बहुमत साबित करना असान नहीं होगा.सुप्रीम कोर्ट में महाराष्ट्र विधानसभा में बहुमत साबित करने पर फैसला सुरक्षित रख लिया है. इस मसले पर आगे मंगलवार को सुबह 10.30 बजे सुप्रिम कोर्ट में सुनवाई होगी. वहीं शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी ने राज्य के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यरी को विधायकों का समर्थन पत्र सौंपने की तैयारी भी कर लिया है.

शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस ने अपने-अपने विधायकों को मुंबई के एक फाइव स्टार होटल में सोमवार की शाम को 162 एमएलए की परेड कराई. शिवसेना के नेता संजय राउत ने राज्य के राज्यपाल से ट्विटर पर टैग करके अपील की तीनों पार्टी के विधायकों की परेड को वह देखें, इसके साथ ही लिखा कि हम तीनों दल एक हैं और इस वक्त हमारे पास 162 एमएलए हैं. हमारे 162 विधायकों को पहली बार शाम सात बजे ग्रांड हयात में देखिए, महाराष्ट्र के राज्यपाल आए और खुद देखें.

मुबंई के ग्रांड हयात होटल के कार्यक्रम में तीनों पार्टियों के सभी विधायकों ने बीजेपी के किसी भी तरह के लालच और प्रलोभन के सामने नहीं झुकने का संकल्प लिया. एनसापी के विधायक धनंजय मुंडे ने कहा कि सोमवार शाम में आयोजित कार्यक्रम में तीनों पार्टी के 162 विधायक मौजूद रहे थे. इस कार्यक्रम में एनसीपी के प्रमुख शरद पवार ने सारे विधायकों से कहा कि वह निजी तौर पर सुनिश्चित करेंगे कि महाराष्ट्र विधानसभा में बहुमत साबित करते समय किसी की भी सदस्यता ना जाए. इसके साथ ही शरद पवार ने कहा कि बीजेपी ने गोवा और अन्य राज्यों में सत्ता बनाने के लिए असंवैधानिक तरीके अपनाए वह महाराष्ट्र में नहीं चलेगा. महाराष्ट्र, गोवा नहीं है और यह समय बीजेपी को सबक सिखाने का है.

Also Read- Maharashtra Chief Minister Shivsena BJP 50-50 Formula: महाराष्ट्र में आदित्य ठाकरे को डिप्टी सीएम बनते देखना है या फिर सीएम? शिवसेना को लेना होगा निर्णायक फैसला

Why BJP-NCP Government in Maharashtra: महाराष्ट्र में ऐसा क्या हुआ कि एक रात में शरद पवार ने अपना मन बदल कर छोड़ा शिवसेना-कांग्रेस का साथ और दिया सरकार बनाने के लिए बीजेपी को समर्थन

Why BJP-NCP Government in Maharashtra: महाराष्ट्र में ऐसा क्या हुआ कि एक रात में शरद पवार ने अपना मन बदल कर छोड़ा शिवसेना-कांग्रेस का साथ और दिया सरकार बनाने के लिए बीजेपी को समर्थन

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर