नागपुर: महाराष्ट्र के नागपुर रेलवे स्टेशन के पास एक संदिग्ध बैग फेंका हुआ मिला। जैसे ही इस बात की खबर पुलिस को दी गई तो मौके पर एक टीम ने बैग की तलासी ली. नागपुर पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार ने बताया कि बम निरोधक दस्ते के जांच के बाद पता चला कि उस बैग में जिलेटिन की 54 छड़ों और एक डेटोनेटर है। संदिग्ध बैग मिलने के बाद पूरे इलाके में राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) और रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के जवानों को तैनात कर दिया गया है और इलाके की घेराबंदी कर दी गई है.

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बीडीडीएस का दस्ता रात करीब आठ बजे मौके पर पहुंचा और बैग को अपने कब्जे में ले लिया। फ़िलहाल रेलवे स्टेशन और आस-पास लगे CCTV फुटेज की मदद से बैग रखने वाले व्यक्ति की पहचान की जा रही है.

मुकेश अंबानी के घर के बाहर भी मिली थी जिलेटिन की छड़ें

आपको ज्ञात हो पिछले साल फरवरी में मुकेश अंबानी के घर के बाहर लावारिस कार मिली थी. इस कार से पुलिस को जिलेटिन की छड़ें मिली थीं साथ ही धमकी भरा पत्र भी मिला था. बिज़नेस मैन मुकेश अंबानी के घर के बाहर जो लावारिस कार मिली थी, वह मनसुख हिरेन की थी. कुछ दिन बाद मनसुख हिरेन का शव खाड़ी में मिला था.

क्या है जिलेटिन की छड़ें

Gelatin एक विस्फोटक है. ये नाइट्रोसेल्यूलोज या गन कॉटन है, जिसे नाइट्रोग्लिसरीन या नाइट्रोग्लायकोल में तोड़कर इसमें लकड़ी की लुगदी या शोरा मिलाया जाता है. यह धीरे-धीरे जलता है पर बिना डेटोनेटर्स के विस्फोट नहीं कर सकता. जिलेटिन से बनी छड़ों का उपयोग गिट्टी क्रशर पर चट्टानों को तोड़ने के लिए किया जाता है. पहाड़ों को तोड़ने के लिए भी विस्फोटक के तौर पर इसका इस्तेमाल किया जाता है.

य़ह भी पढ़े:

एलपीजी: आम लोगों का फिर बिगड़ा बजट, घरेलू रसोई गैस सिलेंडर 50 रूपये हुआ महंगा

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर