भोपाल. मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने मदरसों से कहा है कि वे 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के लिए तिरंगा रैली निकालें. इतना ही नहीं मदरसों को रैली का वीडियो मध्य प्रदेश मदरसा बोर्ड को दिखाना भी होगा. राज्य सरकार के सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा जारी किए गए इस आदेश में स्कूलों में भी स्वतंत्रता दिवस की प्रक्रियाएं पूरी करने को कहा गया है लेकिन उनके लिए फोटो या वीडियो का सबूत दिखाना जरूरी नहीं है. 7 अगस्त को जारी किए गए सरकार के इस सर्कुलर के शीर्षक में लिखा है ‘मदरसो में पैगाम-ए-मोहब्बत के साथ तिरंगा रैली’. सभी मदरसों की तिरंगा रैली में से सबसे बेहतरीन को चुनकर पुरस्कृत किया जाएगा.

बता दें कि पिछले साल भी मदरसों को इस तरह का आदेश दिया गया था जिसका विरोध करते हुए मुस्लिम समाज ने कहा था कि सरकार हमारे समुदाय की देशभक्ति की भावना पर संदेह कर रही है. मदरसा बोर्ड के अध्यक्ष सय्यैद इमादुद्दीन ने कहा कि हर एक मदरसे को स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रीय ध्वज फहराना होता है और विभिन्न समुदायों के लोगों के बीच प्यार और भाईचारे के संदेश को फैलाने के लिए एक रैली की जाती है. इस साल हमने मदरसों से कहा है कि वे सभी समुदायों के लोगों को रैली में भाग लेने के लिए आमंत्रित करें. उन्होंने कहा कि रैली का वीडियो बनाने का मतलब सबूत पेश करने से नहीं है बल्कि ये आदेश रैलियों के बीच प्रतिस्पर्धा के लिए है.

स्वतंत्रता दिवस से पहले सरकार की लोगों से अपील, न करें प्लास्टिक से बने राष्ट्रीय झंडे का प्रयोग

15 अगस्त पर अपने भाषण के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से मांगे सुझाव और विचार

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App