Made In India Outkey Launch: भारत में तेजी से फैले कोरोना वायरस के संक्रमण के बीच देश में ही निर्मित उपकरण आउटकी ने भारतीय बाजार में जोरदार दस्तक दी है. आउटकी नाम का यह उपकरण व्यक्ति को सतह पर स्तिथि वस्तुओं जैसे गेट, एटीएम मशीन अन्य चीजों से सीधे संपर्क में आने से रोकता है. आउटकी नाम का यह उपकरण कोरोना संकट के बीच सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने काफी कारगर है. आपको बता दें कि भारतीय स्टार्टअप DiaMia केयर प्राइवेट लिमिटेड ने इसे हाल में लॉन्च किया है. लॉन्च होने के साथ ही यह उपकरण बाजार में तेजी से अपनी जगह बना रहा है.

बता दें कि भारतीय स्टार्टअप DiaMia केयर प्राइवेट लिमिटेड ने सार्वजनिक स्थानों पर मौजूद वस्तुओं से सीधे संपर्क में आने से रोकने के लिए OutKey नामक एक उपकरण लॉन्च किया है. दरअसल कोरोना महामारी के दौरान हमेशा यह खतरा बना रहता है कि व्यक्ति सार्वजनिक स्थान पर जिस किसी वस्तु को छू रहा है कहीं वह किसी कोरोना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में तो नहीं आई है. यहां सार्वजनिक स्थानों पर स्थिति वस्तुओं से मतलब बिल्डिंगों के दरवाजों, ऑपरेटिंग लिफ्ट के दरवाजे, एटीएम और क्रेडिड कार्ड से हैं.

भारत में ही निर्मित आउटकी नाम के इस उपकरण की मदद से लोग सार्वजनिक स्थानों पर स्थिति वस्तुओं के सीधे संपर्क में आने से बच सकेंगे और बहुत हद तक कोरोना संकट को रोकने में कामयाब होंगे. आप सभी को मालूम हो कि इन दिनों जब हम खुद को सुरक्षित रखने के लिए तरह-तरह के उपाय अपना रहे हैं. ऐसे में आउटकी का इस्तेमाल सुरक्षा की दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण है. आप आउटकी नाम के इस उपकरण को सार्वजनिक शौचालय, सुपरमार्केट, लिफ्ट, मॉल, हवाई अड्डे, रेलवे स्टेशन जैसी सभी सार्वजनिक जगहों पर उपयोग में ला सकेंगे. आप सभी को बता कि बहुत दिनों तक लोगों को घर के भीतर बंद रखकर नहीं रखा जा सकता है, आने वाले दिनों में पूरी दूनिया और भारत में लोग घर से बाहर निकलेंगे तब आउटकी नाम के इस उपकरण की जरूरत पड़ेगी.

भारतीय स्टार्टअप DiaMia केयर प्राइवेट लिमिटेड ने 16 मई 2020 को आउटकी को लॉन्च किया था. लॉन्च के समय से अब तक लोगों की शानदार प्रतिक्रिया मिली है. बीते चार दिनों में स्टार्टअप को अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर एक मिलियन से ज्यादा संदेश प्राप्त हुए हैं और 50000 से अधिक लोगों ने साइट पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है. स्टार्टअप का कहना है कि आउटकी नाम का यह उपकरण सभी के इस्तेमाल के लिए हैं. लोगों अपने लिए तो इसे खरीद ही रहे हैं साथ ही अपने परिवार के सदस्यों और दोस्तों के लिए भी खरीद रहे हैं. अभी तक के आंकड़ों के मुताबिक औसत एक ग्राहक दो से ज्यादा आउटकी खरीद रहा है.

बता दें कि आउटकी नाम के इस उपकरण को प्रीमियम पीतल के टुकड़े से बनाया गया है. हालांकि कई शोध चल रहे हैं जिनमें यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि पीतल कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने में कितना लाभकारी है. अतीत में हुए कई शोध बताते हैं कि तांबे और पीतल की मिश्रित धातु से बना उपकरण कोरोना वायरस के प्रभाव को कम करने में मदद कर सकता है. मालूम हो कि आउटकी कोई चिकित्सा उपकरण नहीं है इसका उद्देशय व्यक्ति को सार्वजनिक स्थल पर मौजूद वस्तु के सीधे संपर्क में आने से रोकना है.

Covid Warriors Documentary Movie: कोविड-19 योद्धाओं पर बनी डॉक्यूमेंट्री फिल्म लॉकडाउन: इंडिया फाइट्स कोरोनावायरस, नैट जियो पर इस दिन होगी प्रसारित

ITV Network Campaign Against Corona Virus: कोरोना के खिलाफ जंग में शामिल हुआ आईटीवी नेटवर्क, जागरूकता फैलाने के लिए #GharParRahe कैंपेन लॉन्च