लखनऊ. पूर्व में हिंदू महासभा से जुड़े हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की बेरहमी से हत्या के बाद सोशल मीडिया पर माहोल गर्मा गया है. लोग कमलेश तिवारी की हत्या को चार साल पहले की घटना से जोड़कर देख रहे हैं. ट्विटर पर #KamleshTiwari ट्रेंड कर रहा है. कुछ साल पहले कट्टर हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी ने पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ भड़काऊ बयानबाजी की थी. उन पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून यानी रासुका भी लगा था. वहीं बिजनौर के एक मुस्लिम गुट ने फतवा जारी कर कमलेश तिवारी का सिर कलम करने वाले को 51 लाख रुपये देने का एलान किया था. मृतक तिवारी सुप्रीम कोर्ट में चले अयोध्या राम मंदिर बाबरी मस्जिद जमीन विवाद मामले में हिंदू महासभा की तरफ से पक्षकार भी रहे थे. अब कमलेश तिवारी की हत्या के बाद प्रदेश का सांप्रदायिक माहौल गर्मा गया है.

ट्विटर पर बिजनौर के इमाम का पुराना वीडियो पोस्ट कर उन्हें हत्या का दोषी मान रहे हैं. इस वीडियो में उन्होंने कहा था कि कमलेश तिवारी जहां कहीं भी हैं, मुस्लिम उन्हें सजा जरूर देंगे. लोग पूछ रहे हैं कि अभी तक इमाम को गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया है.

दूसरी तरफ पुलिस ने घटनास्थल के आस-पास के सीसीटीवी फुटैज खंगाले हैं, जिसमें सामने आया है कि दो हत्यारे भगवा कपड़े पहनकर आए थे और घटना को अंजाम दिया. बताया जा रहा है कि इन दोनों ने पहले मृतक के साथ बैठकर चाय पी और फिर चाकू से गला रेत कर उनकी बेरहमी से हत्या कर फरार हो गए.

ट्विटर पर लोगों का कहना है कि जब हत्यारे भगवा कपड़ों में थे तो उनकी हत्या किसी हिंदू ने ही की होगी. या फिर किसी करीबी ने उन्हें निजी कारणों की वजह से मौत के घाट उतार दिया है. आइए देखते हैं कि ट्विटर पर कमलेश तिवारी की हत्या पर लोगों ने किस तरह की प्रतिक्रिया दी है-

धर्मेंद्र छोनकर नाम के यूजर का कहना है कि कमलेश तिवारी की हत्या की धमकी देने वाले इमाम को जल्द से जल्द गिरफ्तार करना चाहिए-

गीतिका स्वामी का कहना है कि महज दो दिन पहले कमलेश तिवारी ने ममता बनर्जी का पुतला जलाया था, वे अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए आंदोलन भी कर रहे थे. एक हिंदूवादी नेता की हत्या नागवार है. इन्हें न्याय मिलना चाहिए.

बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने कमलेश तिवारी के मर्डर पर कहना है-
आप राम का मजाक उड़ा सकते हैं, राम मंदिर का मजाक उड़ा सकते हैं, हिंदुओं के हर त्यौहार का मजाक उड़ा सकते हैं, लेकिन इस्लाम के बारे में कुछ बोलते ही हत्या कर दी जाएगी और हिन्दू असहिष्णु कहलाएगा.

कमलेश तिवारी के हत्यारे भगवा वेष में आए थे-

इन्होंने लिखा है कि कमलेश तिवारी की हत्या से कुछ मुस्लिम लोग खुश हैं और जश्न मना रहे हैं-

Also Read ये भी पढ़ें-

यूपी के लखनऊ में हिंदू समाज पार्टी के मुखिया कमलेश तिवारी की बेरहमी से हत्या, अयोध्या राम मंदिर निर्माण के लिए चला रखा था अभियान

कौन हैं जफर अहमद फारूकी जिन्होंने कबूला कि भगवान श्रीराम का जन्म अयोध्या में ही हुआ

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App