नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर में आजादी के बाद से ही चले आ रहे आर्टिकल 370 की ताबूत पर नरेंद्र मोदी सरकार ने अंतिम कील ठोक दी है. राज्यसभा से पारित होने के बाद आज यह बिल लोकसभा से भी पास हो गया.  बता दें कि सोमवार को राज्यसभा से जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल 2019 पास हो गया था. जम्मू-कश्मीर को केंद्रशासित प्रदेश का दर्जा दे  दिया गया है. लद्दाख को अलग से बिना विधानसभा के केंद्रशासित प्रदेश का दर्जा दे दिया गया है. लोकसभा में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि अब कश्मीर में सिर्फ तीन परिवारों का भला नहीं होगा बल्कि आम कश्मीरी का भविष्य उज्जवल होगा. 

लोकसभा  में सरकार धारा 370 को खत्म करने के दो प्रस्तावों और जम्मू-कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने का संकल्प लिया. कई क्षेत्रीय दलों ने इस फैसले के लिए बीजेपी का समर्थन किया. सोमवार को राज्यसभा द्वारा प्रस्तावों और जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक पारित किया गया. बीएसपी, बीजेडी, अन्नाद्रमुक, वाईएसआरसीपी और आप जैसे क्षेत्रीय दलों के समर्थन ने राज्यसभा में बिना किसी बाधा के सभी को पारित होने में सरकार की मदद की. हालांकि, सरकार को कुछ शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा क्योंकि बीजेपी के बिहार सहयोगी जेडी-यू ने फैसले का विरोध किया. राज्यसभा में भाजपा के 78 सदस्य हैं, जिन्हें अन्नाद्रमुक (11), बीजेडी (7), बीएसपी (4), शिवसेना (3), आम आदमी पार्टी (3), शिरोमणि अकाली दल (3), वाईएसआर- सीपी (2), आरपीआई-ए, एनपीएफ, एलजेपी, बीपीएफ और एजीपी (एक-एक), चार नामांकित और कुछ स्वतंत्र सदस्य का भी समर्थन मिला.

जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल, 2019 लोकसभा की कार्यवाही Highlights:

शाम 7.30 बजे: लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने 17वीं लोकसभा के मॉनसून सत्र की समाप्ति की आधिकारिक घोषणा कर दी

शाम 7.20 बजे: जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल, 2019 लोकसभा से भी हुआ पास, पक्ष में पड़े 370 वोट और विपक्ष में पड़े 70 मत

शाम 7.15 बजे: आर्टिकल 370 हटाने के पक्ष में पड़े 351 वोट, विपक्ष में पड़े 72 वोट

शाम 7.05 बजे: कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने का किया समर्थन, कहा संवैधानिक तरीके से सरकार बिल लाती तो बेहतर होता

शाम 7.00 बजे: लोकसभा से पास हुआ जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल 2019, पक्ष में पड़े 367 वोट और विपक्ष में पड़े 67 वोट

शाम 6.52 बजे: सारे सूफी संप्रदाय को खत्म कर दिया, कश्मीरी पंडितों को भगा दिया क्या उनके मानवाधिकार नहीं है: अमित शाह, गृह मंत्री

शाम 6.48 बजे: राम मनोहर लोहिया ने कहा था, आर्टिकल 370 भारत और कश्मीर को अलग करता है, क्या वह सेकुलर नहीं थे, मैं अखिलेश यादव जी से पूछना चाहता हूं: अमित शाह, गृह मंत्री

शाम 6.46 बजे: अटल बिहारी वाजपेयी जी ने कहा था कि मेरे पास खंडित जनादेश है इसलिए मैं धारा 370 नहीं हटा सकते, विधाता का खेल देखिए कि उन्हीं की पार्टी आज यह काम कर रही है: अमित शाह

शाम 6.43 बजे: लोकसभा में गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- जम्मू कश्मीर धरती पर स्वर्ग था है और रहेगा, इसमें किसी किस्म का बदलाव नहीं आने वाला 

शाम 6.40 बजे: सारे देश में जमीन का दाम बढ़ा लेकिन जम्मू कश्मीर में नहीं बढ़ी क्योंकि खरीदने वाला 

शाम 6.37 बजे: बहन सुप्रिया सुले कह रही थीं कि गरीबी की वजह से आंतकवाद फैलता है, ऐसा नहीं है वहां पाकिस्तान ने अलगाववाद की फसल बोई है, वरना देश भर में आतंकवाद होता, गरीब तो देश का वफादार होता है: अमित शाह, गृह मंत्री

शाम 6.34 बजे: धारा 370 दलित विरोधी है, महिला विरोधी है, बाल विरोधी है सिर्फ घाटी के तीन परिवारों के लिए आज दुख का दिन है जिन्होंने इतने सालों से सत्ता पर कब्जा जमाकर रखा था: अमित शाह, गृह मंत्री

शाम 6.32 बजे: जम्मू-कश्मीर में सिर्फ तीन परिवारों के पास पावर था लेकिन आज वहां चालीस हजार पंच-सरपंच अपने गांवों के विकास के लिए कार्य कर रहे हैं

शाम 6.30 बजे: जम्मू कश्मीर में चिंता धारा 370 की नहीं है वह तो पिछले कुछ समय से मोदी जी की सरकार आने के बाद घाटी के नेताओं के भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई शुरू की तो कई फाइले मिलीं. असल मुद्दा वो है: अमित शाह, गृह मत्री

शाम 6.27 बजे: देश के सभी हिस्सों में 14 साल तक के बच्चों को निशुल्क शिक्षा का अधिकार है लेकिन जम्मू कश्मीर के बच्चों को यह अधिकार प्राप्त नहीं है, इसका कारण यहीं 370 है: अमित शाह, गृह मंत्री

शाम 6.24 बजे: सुबह से कई लोग धारा 370 हटाने की बात कर रहे हैं लेकिन किसी एक सांसद ने यह नहीं बताया कि इससे जम्मू-कश्मीर के लोगों का फायदा क्या हो रहा है: अमित शाह, गृह मंत्री

शाम 6.22 बजे: घाटी में स्थिति बिगड़ गई है इसलिए कर्फ्यू नहीं लगाया गया है बल्कि वहां स्थिति न बिगड़े इसलिए कर्फ्यू लगाया है, इसमें बहुत फर्क होता है: अमित शाह, गृह मंत्री

शाम 6.20 बजे: जम्मू-कश्मीर में 1990 से अब तक 41 हजार पांच सौ से ज्यादा लोग मारे गए, क्या हम अब भी इसी रास्ते पर चलेंगे, कब तक हम वोटबैंक की राजनीति करते रहेंगे: अमित शाह, गृह मंत्री

शाम 6.18 बजे: 370 कैसे सांप्रदायिक मुद्दा हो गया, क्या जम्मू-कश्मीर में जैन नहीं हैं, बौद्ध नहीं हैं, क्या वहां सिख नहीं हैं, क्या वहां सिर्फ मुसलमान हैं: अमित शाह, गृह मंत्री

शाम 6.16 बजे: जम्मू-कश्मीर में केंद्रशासित प्रदेश में विधानसभा भी होगी, विधायक भी होंगे और मंत्रिमंडल भी, इसलिए यह कहना गलत है कि दिल्ली से सरकार इतने बड़े राज्य को कंट्रोल करेगी

शाम 6.15 बजे: जहां तक केंद्रशासित प्रदेश का जिक्र है तो लद्दाख के लोगों की यह सालों पुरानी मांग थी जो आज पूरी हुई है लेकिन जम्मू-कश्मीर में हालात समान्य होते ही हम उसे वापस पूर्ण राज्य का दर्जा दे देंगे

शाम 6.14 बजे: आंध्र प्रदेश के विभाजन के वक्त कांग्रेस ने जिस तरह से चुने हुए प्रतिनिधियों को उठवाकर फेंक दिया था, लोकतंत्र के लिए काला दिन आज नहीं है तब था: अमित शाह, गृह मंत्री

शाम 6.12 बजे: घाटी के लोग हमारे अपने हैं. हम उन्हें प्यार से रखेंगे. कश्मीर के लोग 100 कहेंगे तो हम 110 तक जाने को तैयार हैं. मोदी जी का दिल बड़ा है. मोदी जी ने पहली सरकार में भी सवा सौ करोड़ दिए थे जिसमें से 80 हजार करोड़ खर्च भी हो चुके हैं

शाम 6.11 बजे: हम हुर्रियत से चर्चा नहीं चाहते, घाटी के लोग हमारे हैं, हम उन्हें सीने से लगाएंगे, वो चर्चा को कहेंगे तो जरूर चर्चा करेंगे: अमित शाह, गृह मंत्री

शाम 6.10 बजे: जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों की तैनाती इसलिए की गई है ताकि कोई गुमराह करके हिंसा न भड़के: अमित शाह, गृह मंत्री

शाम 6.05 बजे: दो बार कांग्रेस ने ही आर्टिकल 370 में संशोधन किया तो वो ठीक था आज जब हम समस्या को ही निर्मूल कर रहे हैं तो आप कह रहे हैं रास्ता ठीक नहीं है, रास्ता तो ठीक है लेकिन यह आपके वोटबैंक से नहीं जाता 

शाम 6.02 बजे: कांग्रेस नेता अधीर रंजन को जवाब देते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- हमारे बिल में पीओके और अक्साई चीन की एक एक इंच जमीन का जिक्र है, पीओके पर हमारा स्टैंड नहीं बदला है

शाम 6.00 बजे: जब भी भविष्य में देश में कश्मीर की समस्या का जिक्र होगा तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम इतिहास में अमर हो गया है

शाम 5.55 बजे: आज सदन में नारे लग रहे हैं तो विपक्ष को दिक्कत हो रही है, ये नारे तो आज पूरे देश में लग रहे हैं. मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इच्छाशक्ति को नमन करता हूं.

शाम 5.50 बजे: गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- जम्मू-कश्मीर में स्थिति सामान्य होते ही वापस उसे पूर्ण राज्य का दर्जा दे दिया जाएगा

शाम 5.42 बजे: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकसभा पहुंचे, बीजेपी सांसदों ने भारत माता की जय के नारे लगाकर उनका स्वागत किया

शाम 5.35 बजे: लोकसभा में कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा-आर्टिकल 370 के हटने से आम कश्मीरी के चेहरे पर चमक है लेकिन जो आतंकवाद की पैरवी करते हैं उन्हें तकलीफ हो रही है

शाम 5.30 बजे: कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा- हम कश्मीरी पंडितों, पहाड़ी मुसलमानों, लद्दाख, डोडा, रजौरी, की आवाज सुन रहे हैं  जो 370 के खिलाफ है वहीं कांग्रेस सिर्फ बारामूला, सोपोर और डाउन श्रीनगर की आवाज सुन रही है 

शाम 5.15 बजे: बीजेपी के सांसद निशिकांत दूबे ने कहा- हम गोलियां खाने को तैयार हैं लेकिन हम पाकिस्तान द्वारा कब्जाए गए कश्मीर को हर हाल में हासिल करेंगे

शाम 4.45 बजे: एआईएमआईएम सांसद लोकसभा में असदुद्दीन ओवैसी ने कहा- सरकार इस देश के संविधान के साथ धोखा किया है, यह फैसला कश्मीर का भारतीयकरण नहीं करेगा यह भारत का कश्मीरीकरण करेगा

शाम 4.30 बजे: कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा- मोदी सरकार ने इससे पहले नोटबंदी का फैसला भी अचानक ही किया था, तब भी शुरुआत में इस फैसले पर खूब तालियां बजीं लेकिन बाद में यह त्रासदी साबित हुई

दोपहर 4.15 बजे: मैं चौथी बार कह रहा हूं मुझमें यह बात दसवीं बार कहने का भी धैर्य है, फारूख अब्दुल्ला जी को न तो डीटेन किया गया है न ही गिरफ्तार किया गया है. अगर वह स्वस्थ नहीं हैं, डॉक्टर उन्हें अस्पताल ले जाएंगे. सदन को इसकी चिंता करने की जरूरत नहीं है

दोपहर 4.04 बजे: कांग्रेस नेता शशि थरूर ने लोकसभा में कहा, जवाहरलाल नेहरू ने कहा था कश्मीर की असली लड़ाई न तो सीमा पर लड़ी जाएगी न ही संयुक्त राष्ट्र में, यह तो लोगों के दिलों में लड़ी जाएगी

दोपहर 3.55 बजे: कांग्रेस नेता शशि थरूर ने लोकसभा में कहा- जम्मू-कश्मीर सरकार की सहमति के बिना यह फैसला लेना संविधान की आत्मा के साथ छल करता है

दोपहर 3.40 बजे: लद्दाख के सांसद जाम्यांग तसिंग ने लोकसभा में कहा- इस निर्णय से नुकसान क्या होगा. सिर्फ दो परिवारों का रोजगार खत्म हो जाएगा लेकिन कश्मीर का भविष्य उज्जवल होगा.

दोपहर 3.15 बजे: नेशनल कॉन्फ्रेंस के सांसद ने कहा कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने आर्टिकल 370 के पक्ष में थे, इस पर गृृह मंत्री अमित शाह भड़क गए और उन्होंने कहा कि सर्वदलीय कैबिनेट में शामिल मुखर्जी इस बिल के न सिर्फ विरोध में थे बल्कि उन्होंने तो इसके लिए जान तक दे दी.

दोपहर 2.40 बजे: एनसीपी की सुप्रिया सुले ने कहा-मैं नहीं जानती इस मामले में बार-बार आंध्र प्रदेश का जिक्र क्यों किया जा रहा है. मैं उस वक्त सदन में थी. दो गलत मिलकर सही नहीं हो जाते. इस सरकार और उस सरकार में फर्क क्या रह गया फिर.

दोपहर 2.30 बजे: समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा- आर्टिकल 370 के मुद्दे पर तो हम देश के साथ हैं लेकिन मेरा सवाल है कि पीओके का क्या. सरकार को इसका जवाब देना चाहिए.

दोपहर 2.15 बजे:  बीजेपी के प्रह्लाद जोशी ने कहा- जब सारा देश जश्न मना रहा है तब कांग्रेस, पाकिस्तान की भाषा बोल रही है. पाकिस्तान की सरकार कह रही है यह काला दिन है और कांग्रेस भी वहीं कह रही है. इसका क्या मतलब है, आप उन्हीं की भाषा बोल रहे हैं.

दोपहर 2.00 बजे: कांग्रेस की जम्मू-कश्मीर पॉलिसी प्लानिंग ग्रुप आज करेगी आपात बैठक

दोपहर 1.50  बजे: लोकसभा में बीजेडी के सांसद पिनाकी मिश्रा ने कहा-कश्मीर में जाने पर यह सुनने को मिलता है आप इंडिया से कब आए, यह आर्टिकल 370 की वजह से है, हम इसे हटाने के निर्णय का समर्थन करते हैं

दोपहर 1.45 बजे: बीजेडी के पिनाकी मिश्रा ने कहा- हम आर्टिकल 370 हटाने के पक्ष में हैं, हमने राज्यसभा में भी समर्थन किया और यहां भी करेंगे

दोपहर 1.20 बजे: जेडीयू के ललन सिंह ने कहा- कश्मीर मुद्दा हो या आर्टिकल 370, हमारा स्टैंड साफ है, हम इस मुद्दे पर सदन से वॉकआउट करेंगे

दोपहर 1.00 बजे: जम्मू-कश्मीर अगर भारत का अभिन्न हिस्सा है तो हर भारतीय कश्मीर के मामले में स्टेक होल्डर हैं, इस देश की संसद स्टेक होल्डर है, हम फैसला नहीं लेंगे तो कौन लेगा: जितेंद्र सिंह, बीजेपी

दोपहर 12.53 बजे: अगर नेहरू ने अलग रोल निभाया होता तो न सिर्फ जम्मू-कश्मीर बल्कि पूरे एशिया की हालत दूसरी होती: जितेंद्र सिंह, बीजेपी

दोपहर 12.46: श्यामा प्रसाद मुखर्जी को बिना परमिट कश्मीर में घुसने के लिए 44 दिन कैद में रखा गया, और आज सदन में बड़ी संवेदनशीलता दिखाई जा रही है कि कश्मीर के नेता कहां हैं अभी तो 24 घंटे भी नहीं हुआ: जितेंद्र सिंह, बीजेपी

दोपहर 12. 40 बजे: काग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट किया-

दोपहर 12.22 बजे: टीएमसी के सुदीप बंधोपाध्याय ने कहा, हम न तो इस बिल के पक्ष में हैं न ही विरोध में इसलिए हम वॉकआउट करेंगे

दोपहर 12.10 बजे: कश्मीरी पंडितों के लिए आज ऐतिहासिक दिन है, कोई भी अपना घर नहीं छोड़ना चाहता लेकिन हमें छोड़ना पड़ा:जुगल किशोर शर्मा, बीजेपी

सुबह 11.55 बजे: कांग्रेस के मनीष तिवारी ने कहा- अगर आज हैदराबाद, जूनागढ़ और जम्मू-कश्मीर भारत का अटूट अंग है तो यह पंडित जवाहरलाल नेहरू की वजह से है

सुबह 11.50 बजे: पिछले 70 सालों में हमने यह तो देखा है कि केंद्रशासित प्रदेशों को राज्य में बदल दिया गया लेकिन यह पहली बार हुआ है कि किसी राज्य को केंद्रशासित प्रदेश में बदला जा रहा है: मनीष तिवारी, कांग्रेस

सुबह 11.40 बजे: यह एक संवैधानिक त्रासदी है कि हम जम्मू-कश्मीर के बारे में फैसला बिना उसकी विधानसभा की अनुमति के आप धारा 370 को खारिज नहीं कर सकते: मनीष तिवारी, कांग्रेस

सुबह 11.35 बजे: कांग्रेस के मनीष तिवारी ने कहा- जवाहर लाल नेहरू की वजह से कश्मीर आज भी भारत का हिस्सा है, उन्होंने फौज भेजकर कश्मीरियों को 

सुबह 11.25: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- देश की संसद के पास जम्मू-कश्मीर में कोई भी कानून बनाने का सर्वाधिकार

सुबह 11.20: सदन में गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- यह बात मैं रिकॉर्ड पर कह रहा हूं कि जब भी मैं सदन में जम्मू-कश्मीर कह रहा हूं तो इसमें पीओके और अक्साई चीन दोनों शामिल हैं. गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, पीओके के लिए हम जान भी दे सकते हैं.

सुबह 11.15 बजे: कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी को जवाब देते हुए केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने कहा- जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है, और इसके लिए कानून बनाने में हमारी संसद पूर्णत: योग्य है. यह बात स्पष्टता जम्मू-कश्मीर के संविधान में भी है. 

सुबह 11.10 बजे: कांग्रेस के नेता सदन अधीर रंजन चौधरी ने गृह मंत्री अमित शाह से मांगा स्पष्टीकरण- हमें यह बताएं कि यह आंतरिक मामला कैसे है? 1948 से संयुक्त राष्ट्र मॉनिटरिंग, लाहौर समझौता, शिमला समझौता क्या आंतरिक मामला था या अंतर्राष्ट्रीय मामला है?उनके इतना कहने पर बीजेपी सांसदों ने सदन में हंगामा कर दिया.

सुबह 11.00 बजे: लोकसभा में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पेश किया जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल 2019

लोकसभा में, भाजपा के 303 सदस्य हैं, इसमें वाईएसआर-सीपी (22), शिवसेना (18), बीजेडी (12), बीएसपी (10), एलजेएसपी (5) और एसएडी (2) और कुछ छोटे क्षेत्रीय दल हैं जो मंगलवार को उठाए जाने वाले प्रस्तावों और विधेयक को सुचारू रूप से पारित करने में मदद करेंगे. गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को मोदी सरकार के अनुच्छेद 370 को रद्द करने और जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने के फैसले की घोषणा की. सरकार ने जम्मू और कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों, जम्मू और कश्मीर और लद्दाख में बांटने का प्रस्ताव दिया.

अमित शाह ने सोमवार सुबह राज्यसभा में बड़ी घोषणा की, विरोध प्रदर्शन पर बैठे और कई पीडीपी सांसदों और संविधान की एक प्रति को फाड़ते हुए दो पीडीपी सांसदों के साथ सदन में हंगामा और विरोध किया. प्रस्तावों को बाद में जम्मू और कश्मीर पुनर्गठन विधेयक सहित राज्यसभा में मंजूरी दी गई. संकल्प अब मंगलवार को लोकसभा में आ गया है. मोदी सरकार के सत्ता में आने के दो महीनों में भाजपा के एक चुनावी वादे को पूरा करते हुए ये एनडीए का बड़ा फैसला रहा. भारत के एक हिस्से ने आतिशबाजी और मिठाइयों के साथ जश्न मनाया, कई ने कई शहरों में विरोध मार्च निकाले, कई विपक्षी दलों जैसे बीजद, अन्नाद्रमुक, अन्नाद्रमुक और अन्य ने भी भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं के अलावा इस फैसले की सराहना की.

UN On Jammu Kashmir Article 370 Revoked: जम्मू-कश्मीर से 370 हटने पर संयुक्त राष्ट्र ने भारत-पाकिस्तान को संयम बरतने की दी सलाह

US On Jammu Kashmir Article 370 Revoked: जम्मू-कश्मीर से 370 हटने पर अमेरिका की अपील, भारत-पाकिस्तान LoC पर बनाए रखें शांति

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App