नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार (19 अप्रैल, 2021) को राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए एक बड़ा फैसला लिया. सीएम केजरीवाल ने घोषणा की कि दिल्ली को 19 अप्रैल की आधी रात से 26 अप्रैल की सुबह तक राजधानी को पूरी तरह से बंद कर दिया जाएगा. बता दें कि रविवार को दिल्ली में 25 हजार से अधिक केस मिले थे जिसके बाद सीएम ने सोमवार को यह घोषणा एक प्रेस ब्रीफिंग के जरिए की.

उन्होंने कहा कि 26 अप्रैल को सुबह 10 बजे से सोमवार शाम 5 बजे तक लॅाकडाउन किया जाएगा. केजरीवाल ने दिल्ली के नागरिकों से कहा कि उनकी सरकार पहले दिन से ईमानदार है और राष्ट्रीय राजधानी के अस्पतालों में बिगड़ती हुई सीओवीआईडी ​​-19 स्थिति की जानकारी दी. केजरीवाल ने दोहराया कि अस्पतालों में आईसीयू बेड की भारी कमी है.

उन्होंने कहा, “हमें दिल्ली के लोगों का पूरा समर्थन मिला है और दो करोड़ निवासी एक विस्तारित परिवार हैं. हम इस महामारी के खिलाफ मिलकर लड़ेंगे. दिल्ली की स्वास्थ्य प्रणाली एक सीमा तक पहुंच गई है” केजरीवाल ने दिल्ली एल-जी अनिल बजाई के साथ बैठक के बाद यह निर्णय लिया.

इससे पहले रविवार को, उन्होंने कहा था कि दिल्ली ऑक्सीजन की भारी कमी का सामना कर रही है और सामान्य आपूर्ति की तुलना में बहुत अधिक की आवश्यकता है. उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र आपूर्ति बढ़ाने के बजाय दूसरे राज्यों में दिल्ली के कोटे को बदल रहा है. केजरीवाल ने ट्वीट किया था, “OXYGEN ने दिल्ली में एक एग्रीमेंट को रद्द कर दिया है.” यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि COVID-19 के प्रसार की जांच करने के लिए राष्ट्रीय राजधानी में नाइट कर्फ्यू लगाया गया था.

 

Lockdown In Rajasthan : राजस्थान में कोरोना से बिगड़े हालात को देखते हुए 3 मई तक लगा लॅाकडाउन

Delhi corona Update: दिल्ली में 25 हजार मिले कोरोना के मरीज, केजरीवाल ने केंद्र सरकार से की ऑक्सीजन सिलेंडर और बेड की मांग

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर