Monday, December 5, 2022

अदालत को लगाओ ताला, योगी करेंगे मुलजिम का फैसला- यूपी में Bulldozer Action पर भड़के ओवैसी

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी से निलंबित राष्ट्रीय प्रवक्ता नूपुर शर्मा के पैगंबर मोहम्मद पर की गई विवादित टिप्पणी के बाद माहौल गरमाया हुआ है. बीते शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद यूपी में कई जगह बवाल देखने को मिला. कई जगह हिंसक घटनाएं देखने को मिली तो कहीं पत्थरबाजी हुई. हिंसा के बाद योगी सरकार एक्शन में आ गई है और सभी आरोपियों पर लगातार कड़ी कार्रवाई करती नजर आ रही है. प्रयागराज में हुए बवाल के मास्टरमाइंड मोहम्मद जावेद उर्फ़ जावेद पम्प के अवैध तीन मंजिला मकान पर प्रशासन द्वारा बुलडोजर चलाया गया. अब इस पर AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा कि ‘अदालत को ताला लगा दो, जजों को कह दो कि अदालत न आए. क्या जरुरत है अदालत की क्योंकि सीएम तय करेगा कि मुलजिम कौन है?’

सीएम योगी पर साधा निशाना

AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए कहा कि ‘यूपी का सीएम, यूपी का चीफ जस्टिस बन चुका है कि वो फैसला करेगा कि किसका घर तोड़ना है. उन्होंने आगे कहा कि सीएम ने बुलडोजर चलाकर, भारत के रूल ऑफ लॉ पर बुलडोजर चला दिया. साथ ही उन्होंने पीएम मोदी से सवाल भी पूछा कि- बताओ देश के पीएम, यह नफरत नहीं तो क्या है?’

ओवेसी ने आगे कहा कि, ‘अजय टेनी को कुछ नहीं किया? अजय का घर नहीं तोड़ा जाएगा लेकिन फातिमा का घर है तो तोड़ा जाएगा? उन्होंने पीएम से अपील की कि यह बुलडोजर जो आप एक समुदाय के घरों पर चलाकर, देश के संविधान को कमजोर कर रहे हैं, वो गलत है.

मैं हिंसा के खिलाफ हूँ- AIMIM चीफ

AIMIM चीफ ने ये बात गुजरात के कच्छ में अपनी रैली के दौरान कही. उन्होंने इस रैली में मुसलमानों से शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने की बात कही है. AIMIM चीफ ने कहा कि ‘बीजेपी की राष्ट्रीय प्रवक्ता नूपुर शर्मा के खिलाफ एक्शन लेते हुए उन्हें जेल भेजना चाहिए और साथ ही जुमे के दिन हुए प्रदर्शन में कई जगह हिंसा देखने को मिली, मैं हिंसा के खिलाफ हूं. न तो पुलिस और ना ही जनता को हिंसा का सहारा लेना चाहिए.’

यह भी पढ़े;

India Presidential Election: जानिए राष्ट्रपति चुनाव से जुड़ी ये 5 जरुरी बातें

Latest news