नई दिल्लीः फुटबॉल के महाकुंभ यानी फीफा वर्ल्ड कप 2018 के महामुकाबले में रविवार को फ्रांस ने क्रोएशिया को 4-2 से हरा दिया. फ्रांस की इस जीत पर पुडुचेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी ने कुछ ऐसा ट्वीट कर दिया, जिससे वह कांग्रेस और ट्विटर यूजर्स के निशाने पर आ गईं. कांग्रेस ने किरण बेदी को एंटी-नेशनल बताते हुए मोदी सरकार से उन्हें बर्खास्त करने की मांग की है.

रविवार को फ्रांस और क्रोएशिया के बीच खेले गए फाइनल में फ्रांस ने जीत दर्ज कर खिताब पर कब्जा जमाया. फ्रांस की इस जीत पर किरण बेदी ने ट्वीट किया, ‘हम पुडुचेरियन (भूतपूर्व फ्रेंच क्षेत्र के वासी) वर्ल्ड कप जीत गए. दोस्तों मुबारक हो. खेल सभी को जोड़ता है.’ किरण बेदी के इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर बवाल मच गया. ट्विटर यूजर्स किरण बेदी के खिलाफ ट्वीट कर अपना गुस्सा जाहिर करने लगे.

जीतू कृष्णन नामक ट्विटर यूजर लिखते हैं कि सोचो अगर इंग्लैंड वर्ल्ड कप जीत जाती तो आरएसएस राष्ट्रीय अवकाश घोषित करवा देती. वेंकटेश बालिगा लिखते हैं, ‘क्या ये ट्वीट एंटी-नेशनल माना जाएगा. सिर्फ पूछ रहा हूं.’ केपीएल लीडर नामक ट्विटर यूजर लिखते हैं, ‘हम भारतीय हैं मैडम, आपके पब्लिसिटी स्टंट को बंद करने की जरूरत है.’ रफीक लिखते हैं, ‘क्या आप इंग्लैंड की जीत पर जश्न मनातीं क्योंकि भारत पर ब्रिटिशों ने भी राज किया है?’

दूसरी ओर कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री अजय माकन ने किरण बेदी को एंटी-नेशनल करार दिया. उन्होंने ट्वीट किया, ‘किरण बेदी का यह बयान पूरी तरह से अस्वीकार्य है और यह पूरी तरह से देश विरोधी है. नरेंद्र मोदी जी को फौरन किरण बेदी को वापस बुला लेना चाहिए.’ नए एलजी का नाम सुझाते हुए माकन ने आगे लिखा, ‘किरण बेदी की जगह पर डॉक्टर हर्षवर्धन, मनोज तिवारी या फिर विजय गोयल को पुडुचेरी का उपराज्यपाल बनाया जा सकता है.’

किरन बेदी का ट्विटर अकाउंट हैक, अनुपम खेर और राम माधव भी हो चुके हैं हैकर्स का शिकार

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App