भोपाल. मध्य प्रदेश से महाशिवरात्रि के जश्न में भंग पड़ने की खबर सामने आ रही है. मामला राज्य के बरवानी में एक आश्रम का है. यहां आश्रम में शिवरात्रि का प्रसाद खाने से करीब डेढ़ हजार लोग बीमार पड़ गए. आश्रम में शिवरात्रि के प्रसाद में खिचड़ी बनी थी. जिसे गांव वालों को प्रसाद के तौर पर बांटा गया. इस प्रसाद को खाने के बाद ही गांव वालों ने पेट दर्द और उल्टी की शिकायत करना शुरू कर दिया.

एक साथ डेढ़ हजार लोगों को आनन फानन में बरवानी जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. एक साथ इतने मरीज आने से अस्पताल में भी स्थिति ऐसी बन गई कि उन्हें बेड मयस्सर नहीं हो पाए. इसी वजह से उनका इलाज नीचे जमीन पर लिटाकर किया गया. इस मामले में जिले के डीएम तेजस्वी एस नायक ने मीडिया को बताया कि अब हालात नियंत्रण में है. डीएम तेजस्वी ने बताया कि पीड़ितों की पहचान करने और उन्हें समय पर अस्पताल पहुंचाने के लिए जिला प्रशासन ने बड़ी संख्या में पुलिस बल को लगाया है.

डीएम ने बताया कि सरकारी अस्पताल के अलावा दो प्राइवेट अस्पतालों मे भी पीड़ितों को भर्ती कराया गया है. वहां भी हालात नियंत्रण में हैं. जिला प्रशासन ने इस मामले की जांच के आदेश दे दिये हैं. फिलहाल जान के नुकसान की कोई खबर नहीं है. बता दें कि महाशिवरात्रि का पर्व देशभर में धूमधाम से मनाया जाता है. इस पर्व पर जगह जगह भंडारे और कीर्तन होते हैं. कांवड़ियों के लिए भी रास्तों में खाने और ठहने के लिए विशेष व्यवस्थाएं होती हैं. यह सब व्यवस्थाएं लोग आस्था के अनुसार करते हैं सरकारी खर्च से नहीं.  इस बार महाशिवरात्रि का पर्व 13 और 14 फरवरी को मनाया जा रहा है.

Maha Shivaratri 2018 Date: 13 या 14 फरवरी कब करें भगवान शिव की पूजा, कैसे प्रसन्न होंगे बाबा भोलेनाथ

15 फरवरी को साल का पहला सूर्य ग्रहण 2018, इन बातों का रखें खास ख्याल