वाराणसी. उत्तर प्रदेश में चुनावी रणभेरी बज चुकी है और नेता-अपनी पार्टी के प्रचार में कूद पड़े हैं. लखीमपुर खीरी हिंसा में सीतापुर से लेकर लखीमपुर खीरी तक संघर्ष करती दिखीं प्रियंका गाँधी रविवार को वाराणसी दौरे पर थीं. वाराणसी के रोहनिया स्थित जगतपुर इंटर कॉलेज के मैदान से माँ दुर्गा के मंत्रो से शुरूआत कर किसान न्याय रैली को संबोधित किया. उससे पहले उन्होंने काशी विश्वनाथ मंदिर व कुष्मांडा मंदिर में पूजा अर्चना की और रास्ते में महिला सिपाही को गले लगाकर छाई रहीं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से किसान न्याय रैली को संबोधित करते हुए प्रियंका गाँधी ने भारतीय जनता पार्टी पर तंज कसा. उन्होंने कहा कि सत्ता में बैठे सभी लोग और उनके नामी मित्र दिन प्रतिदिन खरबपति होते जा रहे हैं. आम नागरिक और किसानों को थार-फॉर्च्यूनर से कुचला जा रहा है.

उन्हने कहा कि नरेंद्र मोदी और भाजपा सरकार अपने और उनके मित्रों के अलावा किसी का हित नहीं चाहती. बता दे हाल ही में सरक़ार ने TATA ग्रुप को एयर इंडिया 18000 करोड़ में बेचीं है, जिसके चलते प्रियंका गाँधी ने मंच से सरकार पर करारा प्रहार किया है. वहीं, लखीमपुर मामले पर प्रियंका गाँधी ने कहा कि पीड़ितों को मुआवजा नहीं इंसाफ चाहिए, जो भाजपा के रहते मिलना मुश्किल है.

किसान पिछले 300 से अधिक दिनों से सड़क पर बैठे है और सैकड़ों किसानों की मौत हो चुकी हैं, लेकिन सरकार ने अभी तक कृषि कानूनों को वापस नहीं लिया है. प्रियंका गाँधी ने सरकार को चारों तरफ से घेरा हैं और अहम मुद्दों को जनता के सामने रखकर चुनावी माहौल को और गरमा दिया है.