नई दिल्ली। भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में इन दिनों हंगामा चल रहा है. सुपरस्टार खेसारी लाल यादव और पवन सिंह के बीच लड़ाई दिनों दिन बढ़ती ही जा रही है. खेसारी लाल यादव ने आरोप लगाया है कि उन्हें और उनके परिवार को लगातार जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं. इसके साथ ही उन्होंने बिहार सरकार से मदद की अपील भी की है. इस पूरे विवाद में अभिनेता और सांसद रवि किशन का बयान आया है.

रवि किशन ने दोनों स्टार्स को सलाह दी

दरअसल खेसारी लाल यादव ने पवन सिंह पर जातिवाद फैलाने का आरोप भी लगाया है. खेसारी लाल का मानना ​​है कि पवन सिंह अक्सर उन्हें नीचा दिखाने की कोशिश करते हैं. अब रवि किशन ने दोनों स्टार्स को सलाह दी है. उन्होंने कहा है कि भोजपुरी इंडस्ट्री के उत्थान पर ध्यान देना चाहिए, आपसी लड़ाई से इस इंडस्ट्री को बर्बाद नहीं करना चाहिए.

ये विवाद भोजपुरी इंडस्ट्री के लिए दर्दनाक

सांसद रवि किशन ने आगे कहा, ‘भोजपुरी फिल्म उद्योग बहुत तेजी से बढ़ रहा है. अब जो विवाद मैं देख रहा हूं, वह बहुत दुखद है, यह सब भोजपुरी इंडस्ट्री के लिए दर्दनाक है. भोजपुरी सिनेमा में एक लाख से ज्यादा लोग कार्यरत हैं.  ऐसे में ‘मैं अपने दोनों जूनियर एक्टर्स पवन सिंह, खेसारी लाल के साथ-साथ सरकार से भोजपुरी इंडस्ट्री में जल्द से जल्द सेंसरशिप लाने का अनुरोध करता हूं’. उन्होंने बताया कि यूपी की योगी सरकार इस पर पहल कर रही है, उम्मीद है जल्द ही सेंसरशिप आ जाएगी.

जातिवाद के मुद्दे पर दी ये प्रतिक्रिया

जातिवाद के मुद्दे पर रवि किशन ने कहा, ‘जातिवाद की बात कैसे आई.  मेरा मानना ​​है कि कलाकार की कोई बिरादरी नहीं होती. उसका काम बस अपनी कला का प्रदर्शन करना और उस पहचान के साथ मरना है. मैं इन दोनों अभिनेताओं से अनुरोध करता हूं कि इस तरह के किसी भी विवाद को बढ़ावा न दें, क्योंकि इससे भोजपुरी फिल्म उद्योग को ही नुकसान होगा, लोग हंस रहे हैं और भोजपुरी उद्योग का मजाक उड़ा रहे हैं.

यह भी पढ़ें:

Delhi-NCR में बढ़े कोरोना के केस, अध्यापक-छात्र सब कोरोना की चपेट में, कहीं ये चौथी लहर का संकेत तो नहीं

IPL 2022 Playoff Matches: ईडन गार्डन्स में हो सकते हैं आईपीएल 2022 के प्लेऑफ मुकाबले, अहमदाबाद में होगा फाइनल

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर