नई दिल्ली. कठुआ गैंगरेप मामले की पुलिस जांच लगभग पूरी हो गई है. इस मामले में पीड़िता के पिता की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है. याचिका में कहा गया कि हम इस मामले की जांच सीबीआई से नही चाहते. उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि केस का ट्रांसफर कठुआ से चंडीगढ़ किया जाए. उनका कहना है कि अगर केस कठुआ में चलेगा तो हमें न्याय नहीं मिलेगा. इसके साथ ही उन्होंने पुलिस जांच पर भरोसा दिखाया है. पुलिस की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि पुलिस ने अच्छा काम किया है. हमें पुलिस की जांच पर पूरा भरोसा है.

केस को जम्मू कश्मीर से ट्रांसफर करने की मांग को लेकर पीड़िता के पिता की याचिका पर कोर्ट ने जम्मू कश्मीर सरकार को नोटिस जारी किया है. कोर्ट ने कहा कि पीड़ित परिवार और मृतका की वकील को सुरक्षा मुहैया कराई जाए. सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार को कहा कि पीड़ित परिवार को जो सुरक्षा आप दे रहे हैं उसे बहाल रखें. इस मामले पर अगली सुनवाई 27 अप्रैल को होगी.

बता दें कि कठुआ गैंगरेप और हत्या मामले में पीड़ित पक्ष की वकील दीपिका सिंह राजावत ने अपनी जान को खतरा बताया था. उन्होंने कहा था कि मेरे साथ रेप भी हो सकता है. ये बातें उन्होंने मामले की सुनवाई से पहले पत्रकारों से कही थीं. उन्होंने आगे कहा था कि हो सकता है कि मुझे कोर्ट में प्रैक्टिस ना करने दी जाए. पता नहीं मैं यहां कैसे रहुंगी, हिंदू विरोधी बताकर मेरा बहिष्कार किया गया है.

कठुआ गैंगरेप: पीड़ित परिवार पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, कहा- केस को जम्मू से ट्रांसफर किया जाए

कठुआ गैंगरेपः पीड़िता की वकील दीपिका सिंह राजावत ने कहा- मेरा बलात्कार या हत्या हो सकती है

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App