नई दिल्ली. कार्तिक माह में महिलाएं अपने पति की लम्बी उम्र के लिए करवा चौथ का व्रत रखती हैं. सुहागिन महिलाओं में इस व्रत की विशेष मान्यता है, महिलाओं को इस दिन चाँद ( Karwa Chauth 2021 ) का बेसब्री से इंतज़ार रहता है, क्योंकि चाँद निकलने के बाद ही महिलाएं अपना व्रत खोल सकती हैं. यह व्रत महिलाएँ अपनी पति की लाबी उम्र के लिए रखती हैं. पूरे देश में इस बार 24 अक्टूबर को करवा चौथ ( Karwa Chauth 2021 ) मनाया जाएगा. यह त्यौहार महिलाओं के लिए बेहद ख़ास होता है. इस दिन महिलाएं 16 श्रृंगार करती हैं, जिसमें मेहँदी लगाना मुख्य माना जाता है.

सरोजिनी नगर में दिखी महिलाओं की भीड़

करवा चौथ के दिन महिलाओं के श्रृंगार में मेहँदी लगवाना सबसे विशेष माना जाता है. इस दिन महिलाएं मेहँदी अवश्य लगवाती हैं. ऐसे में दिल्ली के सरोजिनी नगर मार्केट में मेहँदी लगवाने के लिए महिलाओं की भीड़ उमड़ी. सिर्फ सरोजिनी ही नहीं, बल्कि अन्य मार्केट्स में भी यही हाल है. महिलाओं के इस भीड़ से करवा चौथ के दिन को लेकर उनके उत्साह को देखा जा सकता है.

करवा चौथ के दिन महिलाएं करें ये 16 श्रृंगार

 

करवा चौथ के दिन महिलाएं 16 श्रृंगार कर के चाँद को अर्घ्य देती हैं. इस दिन महिलाएं लाल जोड़े में सजती हैं. ऐसे में साज-सज्जा के लिए 16 श्रृंगार में सुहागिन सिंदूर, बिंदी, काजल, मेहंदी, मांग टीका, गजरा, मंगलसूत्र, नथ, कान की बालियां और चूड़ियां पहनती हैं इसके आलावा करवा चौथ के मौके पर बहुएं लाल रंग का सुहाग जोड़ा, हाथों और पैरों की अंगुलियों में लालता, अगूंठी, कमरपेटी या कमरबंद, बिछुआ और पैरों में पायल पहनकर खुद को खूबसूरत बनाती हैं. इस दिन मंगलसूत्र का पहनना अनिवार्य माना जाता है.

यह भी पढ़ें :

Karwa Chauth 2021 : करवा चौथ पर भूलकर भी न करें ये काम

CM Yogi Rename Faizabad Railway Junction as Ayodhya Cantt: सीएम योगी आदित्यनाथ ने बदला फैजाबाद रेलवे स्टेशन का नाम

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर