बेंगलुरु. कर्नाटक का राजनीतिक नाटक आखिरकार खत्म हो गया है. सदन में विश्वास मत के दौरान कांग्रेस-जेडीएस की एचडी कुमारस्वामी सरकार बहुमत हासिल करने में विफल रही. फ्लोर टेस्ट में कांग्रेस- जेडीएस के पक्ष में 99 वोट और बीजेपी पक्ष में 105 वोट पड़े. सरकार गिरने के बाद जल्द ही बीजेपी के बीएस येदुरप्पा राज्यपाल से सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे. सदन में 207 विधायक हैं और फ्लोर टेस्ट में बहुमत साबित करने के लिए 104 सदस्यों की जरूरत थी. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद इस्तीफा दे चुके बागी विधायक फ्लोर टेस्ट में शामिल नहीं हुए.

फ्लोर टेस्ट से पहले कांग्रेस के मंत्री डीके शिवकुमार ने कहा था कि जेडीएस किसी भी तरह के त्याग के लिए तैयार है. पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया को मुख्यमंत्री बनाने पर इस्तीफा दे चुके कुछ विधायक लौट आ सकते हैं. दूसरी तरफ भाजपा का पहले से ही दावा है कि उसके पास बहुमत का आंकड़ा है.  बीजेपी ने अपने पास 105 विधायक और दो निर्दलीयों का समर्थन होने का दावा किया था. 

कर्नाटक विधानसभा फ्लोर टेस्ट: लाइव अपडेट

23 जुलाई शाम 7. 30 मिनट– कर्नाटक का नाटक खत्म हो गया है. विश्वास मत प्रस्ताव में कांग्रेस-जेडीएस सरकार 99 वोट के साथ गिर गई है. वहीं बीजेपी के पक्ष में 105 वोट पड़े हैं. कहा जा रहा है कि जल्द दी बीएस येदुयूरप्पा सरकार बनाने का दावा पेश कर सकते हैं. 

23 जुलाई सुबह 9 बजे- स्पीकर रमेश कुमार ने कल बागी विधायकों को आज सुबह 11 बजे तक उनके ऑफिस में पेश होने का नोटिस दिया था, इसके जवाब में इस्तीफा दे चुके विधायकों ने 4 हफ्ते का वक्त मांगा है

रात 12.00 बजे- कर्नाटक विधानसभा को मंगलवार सुबह 10 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है. 23 जुलाई को कर्नाटक में जारी सियासी घमासान पर फैसला आने की उम्मीद है.

रात 11.50 बजे- कर्नाटक में जारी घमासान का मंगलवार 23 जुलाई को फैसला आने की पूरी उम्मीद बंध गई है. सोमवार रात कांग्रेस के सीनियर नेता और कर्नाटक के पूर्व सीएम सिद्धारमैया ने कहा कि जेडीएस-कांग्रेस की एचडी कुमारस्वामी सरकार मंगलवार को शाम 6 बजे फ्लोर टेस्ट में हिस्सा लेगी और बहुमत साबित करेगी. इससे पहले मंगलवार शाम 4 बजे बहस पूरी हो जाएगी.

रात 10.00 बजे- कर्नाटक के सियासी संकट पर आज सोमवार को भी फैसला नहीं हुआ. स्पीकर रमेश कुमार ने बागी विधायकों को नोटिस भेजकर मंगलवार 11 बजे तक अपनी स्थिति स्पष्ट करने को कहा है. अगर बागी विधायक ऐसा नहीं करते हैं तो उन्हें अयोग्य ठहरा दिया जाएगा. कांग्रेस के सीनियर नेता डीके शिवकुमार ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि बीजेपी बागी विधायकों को मना रही है और प्रलोभन दे रही है कि उन्हें मंत्री बनाया जाएगा. लेकिन अगर बागी विधायक अयोग्य ठहरा दिए जाते हैं तो वे मंत्री नहीं बन सकते.

रात 9.40 बजे- कर्नाटक से सीएम की इस्तीफे की खबर को झूठा बताते हुए एचडी कुमारस्वामी ने विधानसभा में कहा है कि किसी ने जाली दस्तखत कर मेरे इस्तीफे की खबर फैलाई है, मुझे नहीं पता कि कौन सीएम बनने की जल्दी में है. मैं इस तरह की पब्लिसिटी स्टंट को भद्दा मानता हूं. इस बीच विधानसभा स्पीकर ने कांग्रेस नेता एचके पाटिल से नाराजगी जाहिर की है.

रात 9.20 बजे- बीजेपी एचडी कुमारस्वामी सरकार से विश्वास मत साबित करने की मांग पर अड़ी हुई है. कर्नाटक के पूर्व सीएम और बीजेपी के सीनियर नेता बीएस येदियुरप्पा ने कहा है- जेडीएस-कांग्रेस सरकार के सीएम ने वादा किया था कि वह सदन में आज बहुमत साबित करेंगे. हमलोग रात के 12 बजे तक सदन में रुकेंगे और इंतजार करेंगे. 

रात 9.00 बजे- कर्नाटक में जारी सियासी संकट को विधानसभा में काफी हंगामा देखने को मिल रहा है. कांग्रेस-जेडीएस विधायकों द्वारा सदन में ‘लोकतंत्र  बचाओ’ नारा लगाने के बाद स्पीकर रमेश कुमार ने कहा कि आपलोग सही नहीं कर रहे हैं. मैं रात के 12 बजे तक सदन में रहूंगा और कार्यवाही सुचारू रूप से चलाऊंगा.

रात 8.30 बजे- कर्नाटक विधानसभा स्पीकर रमेश कुमार ने विधानसभा में स्थित अपने चैंबर में मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी, उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वरा, कांग्रेस नेता सिद्धरमैया समेत अन्य प्रमुख जेडीएस-कांग्रेस नेताओं के साथ बैठक बुलाई है. 

शाम 7.15 बजे- कर्नाटक में जारी सियासी संकट और फ्लोर टेस्ट की संभावना के बीच सोमवार देर शाम विधानसभा स्पीकर रमेश कुमार ने बीजेपी के सुनील कुमार, बसावराज बोम्मई और सीटी रवि के साथ ही जेडीएस के सारा रमेश, एचडी रावन्ना, बंदेप्पा कशेमपुर ने विधानसभा चैंबर में मुलाकात की. 

शाम 6.30 बजे- कर्नाटक में जारी सियासी नाटक का आज कुछ देर में अंत होने वाला है. फ्लोर टेस्ट से पहले कांग्रेस-जेडीएस सरकार के सीएम एचडी कुमारस्वामी सदन में भाषण दे सकते हैं और इसके बाद इस्तीफा सौप सकते हैं. इस बीच फ्लोर टेस्ट से पहले सदन में काफी हंगामा हुआ और स्पीकर ने सदन को 10 मिनट के लिए स्थगित कर दिया.  

शाम 6.15 बजे- कर्नाटक से बड़ी खबर सामने ये आ रही है कि कुछ देर में फ्लोर टेस्ट होगा. उससे पहले सीएम एचडी कुमारस्वामी इस्तीफा दे सकते हैं. इस्तीफा देने से पहले वह सदन में भाषण देंगे. खबर ये भी है कि कुछ देर में फ्लोर टेस्ट होगा. वहीं कांग्रेस और जेडीएस विश्वास मत में हिस्सा नहीं लेगी.  

शाम 5.40 बजे-  कर्नाटक में जारी सियासी संकट को लेकर आज फ्लोर टेस्ट यानी कांग्रेस-जेडीएस सरकार के सीएम एचडी कुमारस्वामी द्वारा बहुमत साबित करने पर कोई फैसला आने की संभावना कम है. सीएम कुमारस्वामी ने स्पीकर से दो दिन का समय मांगा है. इस बीच बीजेपी लगातार कांग्रेस-जेडीएस सरकार पर हमलावर है. माना ये भी जा रहा है कि सीएम एचडी कुमारस्वामी आज अपना इस्तीफा सौंप सकते हैं.

शाम 5.10 बजे- बागी विधायकों की सुरक्षा के मसले पर कर्नाटक विधानसभा में हंगामा देखने को मिल रहा है. विपक्षी दलों के आरोप का जवाब देते हुए कांग्रेस विधायक एचके पाटिल ने कहा है कि बागी विधायकों को जीरो ट्रैफिक नहीं दिया है और चूंकि राज्यपाल ने बागी विधायकों की सरक्षा सुनिश्चित करने को कहा था, इसलिए हमने उन्हें खास सिक्युरिटी मुहैया कराई है.

शाम 4.30 बजे- बीजेपी महासचिव मुरलीधर राव ने कर्नाटक की जेडीएस-कांग्रेस सरकार पर करारा हमला बोलते हुए कहा कि सीएम एचडी कुमारस्वामी लोकतंत्र का हनन कर रहे हैं. ऐसे में राज्यपाल को लोकतंत्र को बचाना चाहिए और फैसला करना चाहिए. राव ने कर्नाटक असेंबली स्पीकर पर भी निशाना साधा और कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने बोल दिया है कि बागी विधायक चाहें तो फ्लोर टेस्ट से हिस्सा लेने से इनकार कर सकते हैं. 

शाम 4.10 बजे- विधानसभा में बोले सिद्धारमैया- सीटी रवि की जानकारी गलत, मैंने जेडीएस छोड़ा नहीं था बल्कि मुझे निकाला गया था. मैंने इसके तुरंत बाद कांग्रेस ज्वाइन नहीं की बल्कि मैं तो अहिंद पार्टी बना रहा था. मुझे 2005 में जेडीएस से निकाला गया था. मैंने कांग्रेस 2006 में ज्वाइन किया. सदन में गलत जानकारी नहीं दर्ज होनी चाहिए.

शाम 4.00 बजे- स्पीकर रमेश कुमार ने कहा- हर वक्ता के पास बोलने के लिए 10 मिनट मिलेंगे. मुझे बार-बार एक ही बात कहने पर मजबूर मत कीजिए

दोपहर 3.40 बजे- कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा- अगर बागी विधायक वापस आते हैं तो वो हमारे साथ होंगे. उन्होंने हमें बताया है कि वो वहां अच्छा महसूस नहीं कर रहे हैं. उन्हें यहीं रहना चाहिए था.

दोपहर 3.30 बजे- कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा- विश्वासमत पर फैसला स्पीकर लेंगे. हमने पहले भी कहा था कि हम बहुमत साबित करने में कामयाब होंगे. सुप्रीम कोर्ट में मामला पेंडिंग है. हमनें भी सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की है जिस पर संभवत: कल सुनवाई होगी.

दोपहर 2.15 बजे- कर्नाटक विधानसभा में अभी लंच ब्रेक चल रहा है. दोपहर 3.30 तक सदन भोजनावकाश पर रहेगा

दोपहर 2.00 बजे- बीजेपी के बीएस येदियुरप्पा ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि अभी 2-3 विधायक और भी इस्तीफा देंगे और बीजेपी ज्वाइन करेंगे.

दोपहर 1.15 बजे- कर्नाटक विधानसभा में बोलते हुए कांग्रेसी मंत्री डीके शिवकुमार ने कहा कि बीजेपी को स्वीकार कर लेना चाहिए कि इस सबके पीछे वही है. उन्हें ये भी स्वीकार करना चाहिए कि वह बागी विधायकों के संपर्क में हैं और ऑपरेशन लोटस चला रहे हैं. 

दोपहर 12.45 बजे- मायावती की बहुजन समाज पार्टी के विधायक एन महेश आज भी विधानसभा नहीं पहुंचे, बता दें कि बसपा सुप्रीमो मायावती ने ऐलान किया था कि उनके विधायक कुमारस्वामी सरकार के पक्ष में वोट करेंगे

दोपहर 12.30 बजे- स्पीकर ने कार्यवाही शुरू होने के बाद कृष्णा गौड़ा को बोलने का मौका दिया लेकिन कांग्रेस के मंत्री डीके शिवकुमार ने बीच में बोलना शुरू कर दिया जिस पर स्पीकर भड़क गए. उन्होंने कहा कि क्या आज सभी ने बीच में टोकने का तय किया है

दोपहर 12.15 बजे: स्पीकर रमेश कुमार ने कहा- अपने भाषणों में सदन की मर्यादा का ध्यान रखें, गलत व्यवहार से सदन, स्पीकर और आपके विधायकों की छवि खराब होती है

सुबह 12.00 बजे: कर्नाटक के स्पीकर रमेश कुमार ने कहा, मुझे आज फैसला करना होगा, मैं सुप्रीम कोर्ट के ऑर्डर का अध्धयन कर रहा था जिस वजह से देरी हुई

सुबह 11.30 बजे: कर्नाटक का विधानसभा सत्र शुरू हो गया है, स्पीकर रमेश कुमार ने कहा- अगर किसी विधायक को लगता है उन पर दबाव बनाया जा रहा है तो उन्हें पूरी सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी.

सुबह 11 बजे: कर्नाटक विधानसभा में स्पीकर रमेश कुमार ने इस्तीफा दे चुके बागी विधायकों को जारी किया नोटिस, कहा 23 जुलाई 11 बजे तक उनके दफ्तर में मिलने को कहा

सुबह 10:45 बजे: सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के दो निर्दलिय विधायकों की अर्जेंट सुनवाई की याचिका ठुकराई, विधायकों की मांग थी कि आज फ्लोर टेस्ट से पहले उनकी याचिका पर सुनवाई हो

सुबह 10:30 बजे: कर्नाटक विधानसभा पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा और अन्य बीजेपी विधायक

 

सुबह 10 बजे: रमाडा होटल में रुके बीजेपी विधायक विधानसभा के लिए निकले

दो बार टल गई राज्यपाल की डेडलाइन
कर्नाटक विधानसभा में आज विश्वास मत पर वोटिंग होगी. भारतीय जनता पार्टी लगातार सरकार से मतदान करने की अपील करती रही, लेकिन कांग्रेस-जेडीएस ने राज्यपाल का आदेश होने के बावजूद बहस पूरी होने तक मतदान को टाल दिया. एचडी कुमारस्वामी को राज्यपाल ने दो बार चिट्ठी लिखी, बार-बार डेडलाइन दी लेकिन मतदान नहीं हुआ.
2018 में जब कर्नाटक में चुनाव हुए तो कांग्रेस बहुमत से दूर रह गई थी, लेकिन BJP को दूर करने के लिए कांग्रेस-JDS साथ आई और कुमारस्वामी का मुख्यमंत्री बनना तय हुआ.

कांग्रेस से आधे विधायक होने के बाद भी मुख्यमंत्री जेडीएस का बना लेकिन कांग्रेस के कुछ मुख्यमंत्रियों को ये रास नहीं आया. बीते एक साल में कई बार ये मांग उठी कि हमारे असली मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ही हैं. लेकिन एचडी कुमारस्वामी और कांग्रेस नेतृत्व की तरफ से हर बार इस मांग को नकारा गया.

Karnataka JDS Congress HD Kumaraswamy Govt Crisis Highlights: कर्नाटक के राज्यपाल ने सीएम को फिर लिखा लेटर, कहा- एचडी कुमारस्वामी आज शाम 6 बजे तक बहुमत साबित करें

Kumaraswami Government Crisis In Supreme Court : कर्नाटक के 10 बागी विधायकों पर आज फैसला सुनाएगा सुप्रीम कोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App