बेंगलुरू. कर्नाटक के सियासी नाटक का आज शाम 6 बजे पटाक्षेप हो जाएगा. कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की सरकार के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी अपने पद पर रहेंगे या बीजेपी के बीएस येदियुरप्पा एक बार फिर से कर्नाटक के सीएम बनेंगे इसका फैसला फ्लोर टेस्ट में हो जाएगा. वहीं कांग्रेसी नेता डीके शिवकुमार ने कल दावा किया था कि जेडीएस किसी भी त्याग के लिए तैयार है. ऐसे में वह कांग्रेस से सिद्धारमैया को दोबारा मुख्यमंत्री बनाने का इशारा भी कर चुके हैं. शिवकुमार ने तर्क दिया था कि सिद्धारमैया के नाम पर कुछ बागी विधायक वापस आ सकते हैं.

बता दें कि कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार 10 विधायकों के इस्तीफा देने से अल्पमत में आ गई थी. इसके बाद 5 अन्य विधायकों ने भी इस्तीफा दे दिया. 6 जुलाई से चल रहे इस सियासी ड्रामे में कई मोड़ आए. कभी होटल में विधायकों ने अपने को बंद कर लिया तो कभी अपने विधायकों को खरीद फरोख्त से बचाने के लिए उन्हें किसी गुप्त जगह ले जाया गया. बीजेपी के सभी विधायकों का रात भर विधानसभा में सोना भी देखा गया. सुप्रीम कोर्ट और स्पीकर के बीच अधिकारक्षेत्र की बहस भी हुई और राज्यपाल के आदेश की अवहेलना भी. आज शाम 6 बजे इस बात का फैसला हो जाएगा कि कर्नाटक की सत्ता किसके हाथ में जाएगी.

बीजेपी जता रही है जीत का भरोसा

बीजेपी की नेता शोभा करंदलाजे ने कहा- उनके पास नंबर नहीं है. यह एक अल्पमत की सरकार है. देखते हैं आज शाम क्या होता है

कर्नाटक में इस वक्त तीन नेता हैं जो मुख्यमंत्री बनने का मंसूबा पाले हुए हैं. जेडीएस के एचडी कुमारस्वामी मुख्यमंत्री बने रहना चाहते हैं. बीजेपी के बीएस येदियुरप्पा उन्हें हटाकर खुद मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं. वहीं कांग्रेस के सिद्धारमैया जेडीएस के साथ अपनी गठबंधन वाली सरकार बचाने और बागी विधायकों को वापस लाने के नाम पर दोबारा मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं. आज शाम विधानसभा में फ्लोर टेस्ट होगा जिसमें यह फैसला हो जाएगा कि इन तीनों में से किसके सपना पूरा होगा और किसकी हसरत अधूरी रह जाएगी. आंकड़ों की बात करें तो कर्नाटक विधानसभा से 15 विधायकों के इस्तीफे के बाद कुमारस्वामी सरकार अल्पमत में आ गई है. वहीं बीजेपी दावा कर रही है कि नए समीकरण के बाद उसके पास बहुमत का आंकड़ा मौजूद है. कांग्रेस ने जेडीएस को त्याग करने की सलाह देकर अपना दाव खेल दिया है कि पेंच फंसता है तो कांग्रेस अपना मुख्यमंत्री बनाने का हरसंभव प्रयास करेगी. ऐसे में आज शाम होने वाला फ्लोर टेस्ट इन तमाम किंतु-परंतु पर विराम लगा देगा.

क्या है कर्नाटक में सत्ता का गणित
225 सदस्यीय कर्नाटक विधानसभा में कांग्रेस के 12, जेडीएस के 3 विधायकों सहित कुल 17 सदस्यों के अनुपस्थित रहने की संभावना जताई जा रही है. ऐसे में सदन के कुल सदस्यों की संख्या 208 रह जाती है. एचडी कुमारस्वामी को मुख्यमंत्री बने रहने के लिए 105 विधायकों के समर्थन की जरूरत है. लेकिन कांग्रेस के पास 66 और जेडीएस के पास 34 विधायकों का समर्थन है. बीएसपी के एक विधायक को भी अगर मिला लें तो यह संख्या 101 तक ही पहुंच पाती है. वहीं दूसरी तरफ बीजेपी के पास अभी 105 विधायकों का समर्थन हासिल है. दो निर्दलीय विधायकों को मिलाने के बाद यह संख्या 107 तक पहुंच जाती है. ऐसे में कर्नाटक विधानसभा के नए गणित के हिसाब से बीजेपी सरकार बनाती नजर आ रही है.

CJI Ranjan Gogoi On Media: मीडिया पर चीफ जस्टिस की बड़ी टिप्पणी- ना पेपर पढ़ो ना टीवी देखो, खुश रहोगे

Karnataka HD Kumaraswamy Gov Floor Test Live: कर्नाटक विधानसभा में जेडीएस+कांग्रेस कुमारस्वामी सरकार का फ्लोर टेस्ट शाम 6 बजे, स्पीकर के नोटिस पर बागी विधायकों ने मांगा 4 हफ्ते का वक्त

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App