बेंगलुरु. Karnataka Congerss JDS Kumaraswamy Govt Crisis Live Updates: कर्नाटक में कांग्रेस जेडीएस विधायकों के इस्तीफे के बाद एचडी कुमारस्वामी की गठबंधन सरकार अल्पमत में आने की कगार पर पहुंच गई है. शनिवार को कर्नाटक के 10 कांग्रेस और 3 जेडीएस विधायकों ने स्पीकर रमेश कुमार को अपना इस्तीफा सौंपा. अब खबर आ रही है कि कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की एचडी कुमारस्वामी सरकार के कांग्रेस और जेडीएस मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया है. कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में शनिवार और रविवार को पूरे दिन राजनीतिक घटनाक्रम चला जिसके बाद बेंगलुरु से लेकर नई दिल्ली तक बैठकों का दौर जारी रहा. सोमवार को भी कांग्रेस और जेडीएस के नेता बैठकें कर रहे हैं. इस बीच एचडी कुमारस्वामी सरकार को तब एक और झटका लगा जब गठबंधन में शामिल एक निर्दलीय विधायक एच. नागेश ने इस्तीफा देकर कांग्रेस को समर्थन दे दिया. एचडी कुमारस्वामी सरकार में मंत्री रहे नागेश इस्तीफा देने के बाद मुंबई चले गए हैं. 

इससे पहले रविवार को कर्नाटक के प्रदेश कांग्रेस नेताओं ने सिद्धरमैया और डीके शिवकुमार के साथ मिलकर बैठक की तो वहीं दूसरी ओर नई दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय में भी आला नेताओं ने बैठकर कर्नाटक समस्या का हल निकालने का प्रयास किया. दूसरी तरफ केंद्रीय मंत्री डीवी सदानंद गौड़ा ने साफ कर दिया है कि यदि कांग्रेस-जेडीएस सरकार गिरती है तो बीजेपी राज्य में सरकार का गठन करेगी और बीएस येदियुरप्पा मुख्यमंत्री बनेंगे. फिलहाल स्पीकर रमेश कुमार ने विधायकों के इस्तीफा पत्र ले लिया है और इस पर सोमवार या मंगलवार को फैसला देने की बात कही है. यदि कांग्रेस जेडीएस के बागी विधायकों का इस्तीफा मंजूर हो जाता है तो कुमारस्वामी सरकार अल्पमत में आ जाएगी और बीजेपी को सरकार बनाने का मौका मिल जाएगा.

यहां देखें Karnataka Congerss JDS Kumaraswamy Govt Crisis Highlights:

दोपहर 12:45 बजे- कर्नाटक में जेडीएस-कांग्रेस की एचडी कुमारस्वामी सरकार का बचना अब लदगभग नामुमकिन लग रहा है. हालांकि जेडीएस और कांग्रेस के नेता पूरी कोशिश कर रहे हैं कि सरकार न गिरे. इस बीच कर्नाटक के मंत्री जमीर अहमद खान ने कहा है कि बागी 10 नेताओं में से 6-7 नेता सोमवार शाम तक वापस लौट जाएंगे और सरकार से जुड़ जाएंगे.

दोपहर 12:30 बजे- कर्नाटक की राजनीति में मचे कोहराम के बीच सोमवार की दोपहर सबसे बड़ी खबर आई है कि कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की एचडी कुमारस्वामी सरकार के कांग्रेस और जेडीएस मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया है. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो कांग्रेस के मंत्रियों ने प्रदेश पार्टी अध्यक्ष को इस्तीफा सौंप दिया है. इससे पहले सोमवार सुबह डिप्टी सीएम और कांग्रेस नेता जी. परमेश्वरा ने पार्टी के विधायक दलों के साथ बैठक की थी और कहा था कि उनकी पार्टी के नेता जरूरत पड़ने पर इस्तीफा दे देंगे.

दोपहर 12 बजे- कर्नाटक की बीजेपी नेता शोभा करांडलजे ने निर्दलीय विधायक जी. नागेश के एचडी कुमारस्वामी सरकार के मंत्री पद से इस्तीफा देने और बीजेपी को समर्थन की पेशकश के बाद कहा कि हम निर्दलीय विधायक नागेश का पार्टी में स्वागत करते हैं. हम पार्टी से बाहर के किसी भी नेता को स्वीकार करेंगे. हालांकि शोभा ने ये भी कहा कि वह कांग्रेस और जेडीएल के बागी विधायकों से संपर्क में नहीं हैं.

सुबह 11:00 बजे: लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने बताया है कि हम सदन में कर्नाटक में जारी राजनीतिक घमासान का मसला उठाएंगे, लेकिन अपनी रणनीति के बारे में नहीं बताएंगे कि हम इस समस्या के हल के लिए क्या कर रहे हैं. मालूम हो कि कांग्रेस बीजेपी पर कर्नाटक संकट का दोष मढ़ रही है.  

सुबह 10:40 बजे: कर्नाटक की जेडीएस-कांग्रेस सरकार को एक और झटका लगा है. कांग्रेस के 10, जेडीएस के 3 विधायकों के इस्तीफे के बाद अब एक निर्दलीय विधायक ने भी इस्तीफा दे दिया है. एन. नागेश एचडी कुमारस्वामी सरकार में मंत्री भी हैं. इस्तीफा देने के बाद एच. नागेश मुंबई चले गए हैं. 2 निर्दलीय विधायक और एक बीएसपी विधायक जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन में शामिल हैं.  

सोमवार सुबह 10:20 बजे: कर्नाटक के डिप्टी सीएम बेंगलुरु में कांग्रेस विधायक दलों की बैठक कर रहे हैं जिसमें सीनियर नेता सिद्धारमैया के साथ ही यूटी खाडर, शिवशंकर रेड्डी, वेंकटरामनप्पा, जयमाला, एमबी पाटिल, कृष्णा बायरे रेड्डी, राजशेखर  पाटिल, डीके शिवकुमार समेत अन्य नेता मौजूद हैं. कर्नाटक के सियासी संकट के हल के लिए यह मीटिंग बेहद जरूरी है, जहां बागी नेताओं की मनाने की कोशिशों पर चर्चा हो रही है.

सोमवार सुबह 9: 30 बजे: कर्नाटक में सियासी संकट जारी है, ऐसे में कांग्रेस लगातार बीजेपी को इसके लिए दोषी बता रही है और कह रही है कि बीजेपी कर्नाटक की जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन सरकार गिराने की कोशिश कर रही है. ऐसे में विरोध स्वरूप कांग्रेस पार्टी ने लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव नोटिस दिया है.

सोमवार सुबह 9: 15 बजे: कर्नाटक में जारी सियासी संकट के बीच कांग्रेस ने विधायक दलों की बैठक बुलाई है. कर्नाटक के डिप्टी सीएम जी. परमेश्वरा ने कहा है कि बैठक में सभी विधायकों को अनिवार्य रूप से मौजूद रहने का निर्देश दिया गया है. साथ ही कहा गया है कि इस संकट से निकालने में वे पार्टी का सहयोग करें. परमेश्वरा ने कहा कि हम जानते हैं कि बीजेपी किस कोशिश में लगी है, अगर जरूरत पड़ी तो हम सभी इस्तीफा दे देंगे.  

सोमवार सुबह 9 बजे: कर्नाटक की राजनीति में मचे घमासान के बीच अमेरिका के लौटे एचडी कुमारस्वामी ने बागी कांग्रेस नेता रामलिंगा रेड्डी से बातचीत कर उन्हें समझाने की कोशिश की है. कुमारस्वामी ने कांग्रेस नेताओं से मसले सुलझाने की अपील करते हुए कहा है कि वह अपना इस्तीफा न दें और जेडीएस-कांग्रेस की सरकार में बने रहें. 

रविवार रात 11.00 बजे-  मुंबई के एक कांग्रेसी विधायक नसीम खान को सोफिटेल होटल में प्रवेश करने से रोक दिया गया, जहां बागी कर्नाटक कांग्रेस-जद (एस) के विधायक रह रहे हैं. खान ने कहा, “भाजपा नेताओं को अंदर जाने की अनुमति है। वे विधायकों पर दबाव डाल रहे हैं, लेकिन मुझे जाने की अनुमति नहीं है”.

रविवार रात 9.45 बजे- कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारास्वामी कर रहे हैं  उप मुख्यमंत्री जी परमेश्वर से मुलाकात. अमेरिका से कर्नाटक लौटे मुख्यमंत्री एचडी कुमारास्वामी से मिलने राज्य के उप मुख्यमंत्री जी परमेश्वर उनके होटल पहुंचे.

रविवार रात 8:45 बजे- मुंबई के सॉफिटेल होटल में मौजूद बागी विधायकों में से एक एसटी सोमशेखर ने मीडिया से बातचीत में कहा है कि 13 विधायकों ने स्पीकर को अपना इस्तीफा सौंपा है. हम सभी साथ हैं. बेंगलुरु लौटकर इस्तीफा वापस लेने का कोई सवाल नहीं उठता.

रविवार रात 8:15 बजे- कर्नाटक सरकार में उच्च शिक्षा मंत्री और जेडीएस ने जीटी देवगौड़ा ने कहा है कि  उन्होंने पार्टी नेता एच विश्वनाथ से बात की है. कांग्रेस और जेडीएस दोनों सिद्धारमैया को सीएम बनाने पर किसी को आपत्ति नहीं है. साथ ही दोनों ही पार्टी के किसी अन्य नेता को भी सीएम बनाने पर विचार किया जा सकता है. जीटी देवगौड़ा ने साफ किया है कि वे अपने पद से इस्तीफा देने के लिए तैयार हैं. साथ ही उनका बीजेपी में जाने का कोई विचार नहीं है. 

रविवार शाम 7:30 बजे- मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी बेंगलुरु के एचएएल एयरपोर्ट पहुंच चुके हैं. वे अमेरिका दौरे पर थे, जिसके बाद दोपहर में ही वे दिल्ली पहुंचे और उसके बाद सीधे बेंगलुरु आए हैं.

रविवार शाम 7 बजे- कर्नाटक सीएम एचडी कुमारस्वामी कुछ देर में बेंगलुरु के ताज वेस्ट एंड होटल में जेडीएस विधायकों के साथ बैठक करने वाले है. 

रविवार शाम 5:40 बजे- कर्नाटक में कांग्रेस जेडीएस विधायकों के इस्तीफे के बाद कांग्रेस ने इसके पीछे बीजेपी का हाथ बताया. इस पर बीजेपी नेता मुरलीधर राव ने कांग्रेस पर पलटवार करते हुए कहा है कि कांग्रेस के आरोप बेबुनियाद हैं. कांग्रेस दूसरी पार्टी पर आरोप लगाकर अपनी आंतरिक फीट पर पर्दा डालने की कोशिश कर रही है. जिससे कुछ हासिल नहीं होने वाला है.

रविवार शाम 4:20 बजे- मंगलवार 9 जुलाई को कर्नाटक विधानसभा में कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धारमैया ने कांग्रेस विधायकों की बैठक बुलाई गई है. साथ ही यह भी कहा गया है कि जो विधायक इस बैठक में मौजूद नहीं रहेगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

रविवार शाम 4:15 बजे- कांग्रेस नेता एचके पाटिल ने एएनआई से बातचीत के दौरान कहा कि हमारी पार्टी के नेता नाराज विधायकों से बातचीत कर रहे हैं. बीजेपी सिर्फ समस्या पैदा कर रही है. हमारी सरकार स्थिर रहेगी और बची रहेगी.

रविवार दोपहर 2:30 बजे- अमेरिका से भारत लौटने के बाद कर्नाटक सीएम एचडी कुमारस्वामी दिल्ली से बेंगलुरु के लिए उड़ान भर दी है. 

रविवार दोपहर 1:40 बजे- कर्नाटक में कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार का कहना है कि कांग्रेस और जेडीएस दोनों पार्टियों में बैठकों का दौर जारी है. जेडीएस ने अपने पार्टी नेताओं ने बैठक बुलाई है. कांग्रेस नेता भी इस मसले का हल निकालने में जुटे हुए हैं. शिवकुमार का कहना है कि जल्द ही स्थिति सही हो जाएगी. देश के हित में दोनों पार्टियां मिलकर सही तरीके से सरकार चला रही है और विश्वास है कि जिन विधायकों ने इस्तीफा दिया है वे वापस लौटेंगे.

रविवार दोपहर 1:30 बजे- मुंबई के सॉफिटेल मुंबई बीकेसी होटल में इस्तीफा देने वाले कांग्रेस जेडीएस के 10 विधायकों को रखा गया है. होटल के बाहर बीजेपी एमएलसी  प्रसाद लाद को घूमते हुए देखा गया है. हालांकि उन्होंने कर्नाटक में आए राजनीतिक संकट पर कुछ नहीं कहा.

रविवार दोपहर 12:40 बजे- कांग्रेस-जेडीएस विधायकों के इस्तीफे के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ताओं बेंगलुरु स्थित पार्टी कार्यालय पर धरना दे रहे हैं. कार्यकर्ता कांग्रेस विधायकों से इस्तीफा वापस लेने की मांग कर रहे हैं.

रविवार दोपहर 12:30 बजे- कर्नाटक के कांग्रेस-जेडीएस के 13 में से 10 बागी विधायकों को शनिवार रात मुंबई लाया गया था और सॉफिटेल मुंबई बीकेसी होटल में ठहराया गया है. रविवार दोपहर में कांग्रेस नेता महेंद्र सिंघी होटल पहुंचे. होटल से निकले वक्त उन्होंने मीडिया से बातचीत में बताया कि उन्होंने सिर्फ एक विधायक रमेश जर्किहोली से ही मुलाकात की है. वे अन्य विधायकों से नहीं मिले हैं इसलिए जो वे नहीं जानते उसके बारे में कुछ नहीं कह सकते हैं. 

रविवार दोपहर 12:20 बजे- कर्नाटक में आए राजनीतिक संकट पर कांग्रेस नेता सिद्धारमैया ने बीजेपी पर निशााना साधा है. उनका कहना है कि साफतौर पर नजर आ रहा है कि इस सबके पीछे बीजेपी का ही हाथ है. यह बीजेपी का ऑपरेशन कमल है. हालांकि चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है. सब कुछ ठीक है. हमारी सरकार बची है और उसे कोई खतरा नहीं है.

रविवार दोपहर 12:15 बजे- कर्नाटक सरकार में मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डीके शिवकुमार ने पूर्व प्रधानमंत्री और जेडीएस नेता एचडी देवगौड़ा से उनके आवास पर मुलाकात कर रहे हैं.

रविवार सुबह 11:30 बजे- कर्नाटक में सत्ता बचाने की जद्दोजहद में लगी जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन सरकार के सामने चुनौतियों का अंबार लगा है. रविवार सुबर सीनियर कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार ने पूर्व प्रधानमंत्री और जेडीएस के दिग्गज नेता एसडी देवगौड़ा के घर जाकर उनसे मुलाकात की और आगे की रणनीतियों पर चर्चा की. 

रविवार सुबह 10:50 बजे- कर्नाटक में जेडीएस और कांग्रेस के 13 विधायकों के इस्तीफे के बाद कांग्रेस नेता सिद्धारमैया ने रविवार सुबह मीडिया से बातचीत में कहा कि वह कांग्रेस के 5-6 विधायकों के संपर्क में हैं. हालांकि उन्होंने किसी तरह की विस्तृत जानकारी नहीं दी, लेकिन इतना कहा कि उनकी पार्टी के विधायक पार्टी के लिए निष्ठावान हैं. 

रविवार सुबह 10:35 बजे- कर्नाटक में सियासी संकट के बीच सीनियर कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने बीजेपी पर आरोप लगाया है कि नरेंद्र मोदी सरकार क्षेत्रीय पार्टियों पर निशाना बना रही है. खड़गे ने कांग्रेस के बागी नेता रामलिंगा रेड्डी के बारे में कहा कि वह पार्टी के सीनियर नेता हैं और लंबे समय से पार्टी को कर्नाटक में स्थापित करने में सक्रिय रहे हैं, आगे वो क्या करते हैं, येे उनपर निर्भर करता है. 

रविवार सुबह 10 बजे- कर्नाटक में जारी सियासी संघर्ष के बीच पूर्व सीएम और कर्नाटक बीजेपी के सीनियर नेता बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि बीजेपी ने सरकार गिराने की कोशिश साजिश नहीं की है और मेरा कांग्रेस-जेडीएस नेताओं के इस्तीफे से कोई लेना-देना नहीं है. येदियुरप्पा ने कहा कि कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी और कांग्रेस नेता सिद्धारमैया के आरोपों पर मैं कुछ भी बोलना नहीं चाहता.

शनिवार 10.00 PM: कर्नाटक सरकार में मंत्री और कांग्रेस नेता जमीर अहमद ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा है कि जिन विधायकों ने इस्तीफा दिया है वे कहां जाएंगे, वे सब वापस लौट आएंगे.

9.00 PM: कांग्रेस-जेडीएस के 13 में से 10 बागी विधायकों को मुंबई लाया गया है. सभी विधायक मुंबई के सॉफिटेल होटल में पहुंच चुके हैं. 

ये रहा कर्नाटक में शनिवार पूरे दिन का राजनीतिक घटनाक्रम-
शनिवार को जेडीएस-कांग्रेस के 13 विधायक स्पीकर रमेश कुमार के कार्यालय में अपना इस्तीफा लेकर पहुंचे. स्पीकर कार्यायल में नहीं थे इसलिए उन्होंने वहां इतजार किया. इसी बीच कर्नाटक कांग्रेस के प्रमुख नेता डीके शिवकुमार वहां पहुंचे और बागी विधायकों से बात की. डीके शिवकुमार ने 3 विधायकों का इस्तीफा पत्र भी फाड़ दिया.

बाद में सभी बागी विधायक स्पीकर के सचिव को अपना इस्तीफा सौंपकर निकले और राजभवन पहुंचे. उन्होंने राज्यपाल वाजूभाई वाला से मुलाकात की. मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी अमेरिका दौरे पर थे, अब वे भारत लौट गए हैं. 

कर्नाटक में विधायकों के इस्तीफे के बाद कांग्रेस पार्टी में खलबली मच गई. नई दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय में आपात बैठक बुलाई गई, जिसमें पार्टी के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, गुलाम नबी आजाद, मुकुल वासनिक, पी चिदंबरम, ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत कई आला नेता मौजूद रहे.

बैठक से निकलने के बाद खड़गे ने कहा, ‘मुझे भरोसा है कि जिन विधायकों ने इस्तीफा दिया है मान जाएंगे’. वहीं कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने इस घटनाक्रम के लिए पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि बीजेपी और पीएम मोदी देशभर में होर्स-ट्रेडिंग की राजनीति कर रहे हैं.

कांग्रेस के कर्नाटक इंचार्ज के सी वेणुगोपाल शनिवार शाम तुरंत बेंगलुरु पहुंचे और कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धारमैया के साथ बैठक की. इस बैठक में डीके शिवकुमार, ईश्वर खांडरे और डीके सुरेश समेत कई नेता मौजूद रहे. दूसरी तरफ मल्लिकार्जुन खड़गे भी जल्द बेंगलुरु पहुंचने वाले हैं.

इस्तीफा देने वाले विधायकों को कांग्रेस पार्टी मनाने में लगी है. 13 में से 10 बागी विधायकों को स्पेशल विमान के जरिए मुंबई लाया गया है. जबकि तीन विधायक- रामालिंगा रेड्डी, एसटी सोमशेखर और मुनिरत्न बेंगलुरु में ही हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App