नई दिल्ली. देश आज करगिल विजय दिवस की 22वीं सालगिरह मना रहा है। इसी दिन 1999 में भारतीय सेना ने करगिल के युद्ध में पाकिस्तान को धूल चटा दी थी। भारत की इस जीत और सैनिकों की वीरता को याद करने के लिए हर साल इस दिन करगिल विजय दिवस मनाया जाता है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का आज द्रास जाने का कार्यक्रम रद्द हो गया है। वह अब द्रास नहीं जाएंगे। बताया जा रहा है कि खराब मौसम की वजह से कार्यक्रम रद्द हुआ है। राष्ट्रपति कोविंद अब गुलमर्ग जा रहे हैं। यहां वह जवानों के साथ मुलाकात करेंगे।

सबसे बड़ी विजय

साल 1999 में करगिल की ऊंची चोटियों पर भारत और पाकिस्तान के बीच जंग हुई थी, जिसमें भारत की विजय हुई थी। उस युद्ध की विजय के उपलक्ष्य में हर साल करगिल के द्रास स्थित वॉर मेमोरियल पर करगिल विजय दिवस मनाया जाता है। 1999 में पाकिस्तानी सेना ने भारत की इन चोटियों पर कब्जा कर लिया था। 14 से 18 हजार फीट की उंचाई पर स्थित इन चोटियों से भारतीय सेना ने बेहद ही बहादुरी के साथ पाकिस्तानी घुसपैठियों को मार भगाया था। इस युद्ध में भारत के 500 सैनिक वीरगति को प्राप्त हुए थे। ये युद्ध मिलिट्री-हिस्ट्री में एक बेहद ही मुश्किल और जोखिम-भरे युद्ध के तौर पर जाना जाता है।

पीएम मोदी का ट्वीट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा कि आज करगिल दिवस के मौके पर हम उन सभी शहीदों को श्रद्धांजलि देते हैं, जिन्होंने देश के लिए अपनी जान दे दी। उनकी बहादुरी हमें हर दिन प्रेरणा देती है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इस मौके पर लिखा कि कारगिल विजय दिवस के अवसर पर मैं भारतीय सेना के अदम्य शौर्य, पराक्रम और बलिदान को नमन करता हूं। इसी के इसी के साथ उन्होंने एक वीडियो भी ट्वीट किया। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी इस मौके पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी।

Salary, Pension EMI Rules Change: अब 1 अगस्त से महीने की पहली तारीख को ही सैलरी, पेंशन और ईएमआई की सुविधा, NACH की सुविधाएं अब हफ्ते के सातों दिन

NPS Multiple Benefits: नेशनल पेंशन स्कीम ऑफर्स के कई फायदे, जानें कौन-कौन से मिलेंगे लाभ