नई दिल्ली. शहरों में पीक पर आने के बाद अब कोरोना संक्रमण का खतरा सबसे अधिक गांवों में है। ऐसे समय में सवाधानी और जागरूकता ही सबसे अहम हथियार है इस अदृश्य दुश्मन से निपटने का। गांवों के लिहाज से देखें तो पारंपरिक मीडिया सबसे अहम हथियार साबित हो सकता है जन-जन तक जागरूकता फैलाने के लिए। ऐसी ही जागरूकता कांगड़ा में एक युवा आईएएस ऑफिसर फैला रहे हैं।

हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में एक युवा आईएएस ऑफिसर राकेश कुमार प्रजापति ट्रेडिशन मीडिया का सहारा लेकर लोगों को कोरोना से बचने की जागरूकता फैला रहे हैं।

जागरूक करने का नया अंदाज

लोगों को जागरूक करते हुए राकेश कुमार राजपति एक अलग गेटअप में नजर आ रहे हैं। जिससे लोगों का ध्यान उनकी ओर आकर्षित हो सके। वो माइक लेकर जोर-जोर से चिल्लाते हैं, “बचो-बचो, आप भी बचो और अपनों को भी बचाओ। सबसे सुरक्षित जगह आपका घर है। घर पर ही रहो। बहुत जरूरी हो तो ही बाहर निकलो। बाहर निकालो तो डबल मास्क लगाकर निकलो।”

कोरोना से लोगों को जागरूक करते हुए राकेश कुमार का वीडियो वायरल हो रहा है। जिसकी लोग तारीफ कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि इस तरह से लोकल लहजे में लोगों को समझाने का ये अच्छा तरीका है।

 कांगड़ा में बढ़े कोरोना मरीज

हिमाचल प्रदेश का सबसे बड़ा जिला कांगड़ा पिछले महीने से कोरोना की भयंकर चपेट में है। रोजाना तकरीबन 1 हजार से ज्यादा केस आ रहे हैं। पॉजिटिविटी रेट बढ़कर 25 फीसदी हो गया है।

जिला प्रशासन लोगों को जागरूक करने के लिए अब कलाकारों का सहारा ले रहा है। गांवों-कस्बों में झांकियां निकाली जा रही हैं। ऐतिहासिक चरित्रों का भेस लेकर कलाकार लोगों कोज समझा रहे हैं। जिले के अतिरिक्त उपायुक्त राहुल कुमार के अनुसार यह तरीका कारगर साबित हो रहा है।

धौलाधार फेस्टिवल टीम के अनेक सदस्य कांगड़ा जिले से हैं या वहीं रहते हैं। टीम के सभी सदस्य प्रशासन के साथ संपर्क बनाए हुए राहत कार्यों में सहयोग कर रहे हैं।

Wrestler Susheel Kumar Arrested : तमाम अटकलों के बीच आखिर दिल्ली से धरे गए पहलवान सुशील कुमार, 1 लाख का था ईनाम

Covaxin in not listed in WHO : भारत की कोवैक्सीन लगाने वाले नहीं कर सकेंगे विदेश यात्रा, डब्ल्यूएचओ की लिस्ट में नहीं कोवैक्सीन, पीएम मोदी ने भी लगवाई है ये वैक्सीन

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर