नई दिल्ली. पूर्व केंद्रीय मंत्री और गुना-शिवपुरी से कांग्रेस के पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस पार्टी से नाराज चल रहे हैं. अब उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट के बायो से कांग्रेस के नाम और अपने पद को हटा दिया है. उनके ट्विटर बायो में अब कांग्रेस का नाम नहीं है बल्कि उन्होंने लोक सेवक और क्रिकेट उत्साही लिख रखा है. खबरों की मानें तो ट्विटर प्रोफाइल से कांग्रेस का नाम हटाने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया अपनी पुरानी पार्टी कांग्रेस को छोड़ भी सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 2-3 दिन पहले दिल्ली में पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी.

सिंधिया अपने ट्विटर के बायो में इससे पहले पूर्व संसद सदस्य, गुना (200-20019), पूर्व विद्युत मंत्री (I / C), MoS वाणिज्य और उद्योग, MoS संचार आईटी और पोस्ट लिखा हुआ था. कहा जाता है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ की अगुवाई वाली सरकार में अंदरूनी कलह चल रही है. हाल ही में सिंधिया ने कमलनाथ के नेतृत्व वाली राज्य सरकार को अपने घोषणा पत्र और लोगों की समस्याओं के बारे में याद दिलाने के लिए एक पत्र लिखा है.

सिंधिया ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख पर पीएम मोदी के नेतृत्व वाली सरकार का समर्थन किया था. सिंधिया ने ट्वीट करके कहा था मैं जम्मू और कश्मीर और लद्दाख और भारत के संघ में पूर्ण एकीकरण के कदम का समर्थन करता हूं. बेहतर होता अगर संवैधानिक प्रक्रिया का पालन किया गया होता, तब कोई सवाल नहीं उठाया जा सकता था. फिर भी यह हमारे देश के हित में है और मैं इसका समर्थन करता हूं.

ये था पहले ट्विटर का बायो

हालांकि न्यूज़ एजेंसी एएनआई की खबर के अनुसार सिंधिया ने कहा है कि एक महीने पहले ही लोगों की सलाह पर मैंने ट्विटर पर अपना बायो बदला था. ट्विटर पर अपना बायो छोटा कर लिया था. इस बारे में अफवाहें निराधार हैं.

ये भी पढ़ें

ज्योतिरादित्या सिंधिया ने क्यों कहा कि कांग्रेस पार्टी को आत्मचिंतन करने की जरूरत है

अनुच्छेद 370 हटाने के मामले पर बंटी कांग्रेस, राहुल गांधी के करीबी ज्योतिरादित्य सिंधिया ने किया सरकार के कदम का समर्थन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App