राजस्थान: सीएम अशोक गहलोत के जोधपुर में ईद पर हुई हिंसा मामले में अब तक कुल 11 मामले दर्ज किए गए हैं. इन मामलों में से 5 केस पब्लिक की ओर से दर्ज करवाए गए हैं जबकि तीन शुरुआती तौर पर दर्ज मामले पुलिस की ओर से दर्ज करवाए गए थे. शहर में शांति बनाये रखने के लिये पुलिस टीम लगातार गश्त कर रहे हैं. दंगा प्रभावित क्षेत्रों में कर्फ्यू लागू है. इस बीच कांग्रेस सरकार के बड़े नेता एवं शिक्षा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला भी जोधपुर पहुंच चुके हैं. उन्होंने वहाँ पहुंचकर आमजन से शांति बनाये की अपील की.

बाद में मीडिया से डॉ. बीडी कल्ला ने कहा कि जो भी दोषी है वे किसी भी सूरत में बख्शे नहीं जाएंगे. कानून का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी. उन्होंने राजनीतिक पार्टियों से भी अपील करते हुये कहा कि सभी राजनीतिक दलों को ऐसे समय में अखंडता दिखानी चाहिये. ऐसे में कोई भी भड़काऊ भाषण ऐसा न हो जिससे सांप्रदायिक सौहार्द्र ख़राब हो. उन्होंने कहा कि जोधपुर भाईचारा के लिए प्रसिद्ध है और इसे अपनायत का शहर कहा जाता है. कानून पर विश्वास रखने की बात कहते हुए उन्होंने कहा कि पुलिस अपना काम कर रही है.

चप्पे-चप्पे में हो रही है पुलिस की गश्त

दूसरी तरफ शहर में कानून व्यवस्था बनाये रखने और कर्फ्यू की पालना करवाने के लिये सुबहसे पुलिस का काफिला रवाना हुआ है. उसमें DCP सहित RAC जवान के साथ-साथ सिगमा और पुलिस वाहन शामिल रहे. ये सभी शहर के अलग-अलग हिस्सों में गश्ती टीम के रूप में पेट्रोलिंग कर रहे हैं.

यह भी पढ़े:

गुरुग्राम के मानेसर में भीषण आग, मौके पर दमकल की 35 गाड़ियां

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर