July 17, 2024
  • होम
  • Jobs For Pulwama Martyrs Families: पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों के लिए कॉर्पोरेट सेक्टर भी आया सामने, आर्थिक मदद के साथ-साथ नौकरी का ऑफर

Jobs For Pulwama Martyrs Families: पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों के लिए कॉर्पोरेट सेक्टर भी आया सामने, आर्थिक मदद के साथ-साथ नौकरी का ऑफर

  • WRITTEN BY: Aanchal Pandey
  • LAST UPDATED : February 15, 2019, 10:38 pm IST

नई दिल्ली. गुरुवार को जम्मू और कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले से पूरा देश स्तब्ध है. हमले में 44 से ज्यादा अर्धसैनिक जवान शहीद हो गए. शहीदों के परिवारों की आर्थिक मदद करने के लिए कॉर्पोरेट निकायों ने शहीदों के परिजनों को नौकरी देने का वादा किया है. ग्लोबल एसोसिएशन फॉर कॉर्पोरेट सर्विसेज, जीएसीएस ने दिल्ली में अपने ज्ञान सम्मेलन में पुलवामा में शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों के परिवारों को नौकरी देने का फैसला किया. कैप्टन (सेवानिवृत्त), प्रबंध निदेशक, कुशमैन वेकफील्ड राजेश शर्मा ने कहा, ‘हम इस घटना से बहुत दुखी हैं. हम उन बहादुरों के लिए कुछ करना चाहते थे, जिन्होंने देश की सेवा करते हुए अपनी जान गंवा दी. इसलिए हमने शहीदों के परिवारों को नौकरी देने का फैसला किया है.’

जीएसीएस के 700 से अधिक कॉर्पोरेट निकाय हैं और इसके सदस्यों ने सर्वसम्मति से पुलवामा के शहीदों के परिवारों का समर्थन करने का निर्णय लिया है. कपिल खेरा, हेड एडमिनिस्ट्रेशन, आइडिमिया का कहना है, ‘यह इस देश के नागरिक के रूप में और जीएसीएस के सदस्यों के रूप में हमारी जिम्मेदारी है जो हमारे देश का बचाव कर रहे हैं हम उनकी मदद करें. पूरा देश शहीदों के परिवार के साथ है और हम शहीदों के परिवारों को नौकरी सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी ले रहे हैं.’

दिल्ली में कॉरपोरेट हाउस ज्ञान सम्मेलन के लिए जीएसीएस के सदस्य एकत्रित हुए. सभी ने शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए दो मिनट का मौन रखकर शुक्रवार को कार्यक्रम की शुरुआत की. कर्नल (सेवानिवृत्त) अशोक प्रभाकर ने कहा, ‘कॉरपोरेट निकायों में हममें से कई लोग सशस्त्र बलों से भी हैं और हमें लगता है कि सेनाओं और कॉरपोरेट्स को करीब लाने की जिम्मेदारी हमारी है. हमने शहीदों के परिवारों की मदद करके इन्हें साथ लाने का तरीका ढूंढ लिया है. इसके अलावा, हम भी पीड़ित परिवारों की आर्थिक रूप से मदद करने के लिए कोशिश करेंगे.’

इस बारे में दमलिया भारत समूह के राष्ट्रीय प्रमुख राहुल लाल ने कहा, ‘यह उन लोगों के परिवार के लिए बहुत छोटी मदद होगी जिन्होंने देश के लिए अपने जीवन का बलिदान दिया है लेकिन यह कॉर्पोरेट्स को सशस्त्र बलों के करीब लाने के लिए एक पहल है.’ जीएसीएस के संस्थापक सदस्यों में से एक समीर सक्सेना ने कहा, ‘हो सकता है कि कॉरपोरेट्स अपनी-अपनी दुनिया में अपना अच्छा कारोबार कर रहे हों, लेकिन अब हमारे लिए यह समय है कि हम अपना प्यार और सम्मान शहीद हुए नायकों को दिखाए और उसके अनुसार कार्य करें.’

Pulwama Terror Attack CRPF: पुलवामा में शहीद हुए CRPF जवानों का पार्थिव शरीर पहुंचा दिल्ली, पीएम नरेंद्र मोदी ने दी श्रद्धांजलि

CRPF Guard Pakistan High Commission: पुलवामा हमले को लेकर आक्रोश के बावजूद पाकिस्तानी उच्चायोग की सुरक्षा में लगे हैं सीआरपीएफ के जवान, कहा- कर्तव्य सबसे पहले

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन