नई दिल्ली. JNU Students Protest Highlights: राजधानी दिल्ली के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में फीस वृद्धि और नये हॉस्टल नियमों लेकर छिड़ा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. आज यानी सोमवार 18 नवंबर 2019 को जेएनयू छात्रसंघ ने फीस वृद्धि और नये हॉस्टल नियमों के खिलाफ कैंपस से संसद भवन तक मार्च निकालने का ऐलान किया है. जेएनयू छात्रसंघ ने मार्च की तैयारी भी पूरी कर ली है. छात्रसंघ के इस कदम को देखते हुए जेएनयू गेट के बाहर धारा 144 लागू कर दी गई है. दिल्ली पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि जेएनयू के छात्रों को संसद भवन तक नहीं जाने दिया जाएगा. संसद भवन के आसपास भी धारा 144 लागू कर दी गई है.

जवाहर लाल यूनिवर्सिटी कैंपस में छात्र लांग मार्च टू पार्लियामेंट निकालने की तैयारी कर रहे हैं. टू सेव पब्लिक एजुकेशन का नारा लेकर छात्र कैंपस से मार्च निकालने जा रहे हैं. वहीं पुलिस प्रशासन ने पूरे कैंपस को छावनी में तब्दील कर दिया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जेएनयू छात्रों को कैंपस के आसपास ही एक किलोमीटर के दायरे में रोकने की प्लानिंग की गई है. हालांकि उन्हें किस पाइंट पर रोका जाएगा ये अभी तक निर्णय नहीं किया गया है.

बता दें कि जेएनयू के छात्र बड़ी हॉस्टल फीस के विरोध में जेएनयू से संसद तक मार्च निकाल रहे हैं. सुरक्षा के लिए दिल्ली पुलिस ने 9 कंपनी फोर्स कैंपस में तैनात की है. जिसमें पैरा मिलिट्री फोर्स के जवान भी शामिल हैं. छात्रों को प्रदर्शन को रोकने के लिए करीब 1200 पुलिसकर्मी तैनात किए गए है, जिनमें दिल्ली पुलिस भी शामिल है. कैंपस के अंदर और बाहर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. रविवार को केरल से राज्यसभा सांसद ए करीम ने जेएनयू के रजिस्ट्रार को पत्र लिखकर इस बात पर दुख जताया था कि उन्हें जेएनयू कैंपस में छात्रों के प्रदर्शन में शामिल होने से रोक दिया गया है.

राज्यसभा सांसद ए करीम ने इस बात पर हैरानी जताते हुए कहा कि वो एक सांसद हैं और प्रशासन द्वारा इस तरह के निवेदन से देश के डेमोक्रेटिक कल्चर पर सवाल उठते हैं. मुझे आज प्रदर्शनकारी छात्रों को संबोधित करना था और इसके लिए मैं दिल्ली भी पहुंच गया था. लेकिन स्वास्थ्य कारणों से शामिल नहीं हो पाया, लेकिन इन छात्रों को मेरा समर्थन है. वहीं दूसरी जेएनयू प्रशासन ने लिखित तौर पर दिल्ली पुलिस को 11 नवंबर को हुए प्रदर्शन में कथित तोड़फोड़ की शिकायत कर दी है. चीफ सिक्योरिटी ऑफिसर की तरफ से ये शिकायत दर्ज कराई गई है.

JNU Students Protest Highlights:-

शाम 8: 20 बजे- जेएनयू स्टूडेंट के संसद मार्च को दिल्ली पुलिस ने रोक दिया है. दिल्ली पुलिस के तरफ से सोमवार देर शाम बयान जारी कर कहा गया कि संसद की तरफ कूच कर रहे छात्रों को सफदरगंज किले के पास रोक दिया गया और 100 से ज्यादा स्टूडेंट्स को हिरासत में ले लिया गया है.

शाम 7: 20 बजे- जेएनयू के स्टूडेंट्स फीस बढ़ोतरी को वापस लेने की मांग के साथ सड़कों पर आक्रोशित दिख रहे हैं और संसद की तरफ मार्च कर रहे हैं. इस बीच दिल्ली की सड़के छात्रों की भीड़ से पटी पड़ी हैं. छात्रों की मांग है कि फीस बढ़ाने के फैसले को सरकार वापस ले. इस बीच जेएनयू के छात्रों और पुलिस के बीच झड़क की कई खबरें सामने आ रही हैं.

5: 20 बजे- सफदरगंज मकबरे के पास छात्रों के इकट्ठा हो जाने से अरविंदो मार्ग पर ट्रैफिक रोक दिया गया है. सफदरगंज रोड, तुगलक रोड, लोक कल्याण मार्ग भी बंद कर दिए गए हैं. हिरासत में लिए गए छात्रों को छुड़ाने के लिए तुगलक रोड थाने के नजदीक छात्र पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं. छात्र अभी भी आजादी

5 : 10 बजे- छात्रों के संसद मार्च को पुलिस ने सफदरगंज मकबरे के पास रोक दिया है. मार्च रोके जाने पर छात्र मकबरे के नजदीक ही बैठ गए हैं. छात्र आजादी के नारे लगाकर अपनी मांगों को परवाज दे रहे हैं. जेएनयू के छात्र फीस वृद्धि और हॉस्टल के नए नियमों को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. 

5 : 00 बजे- जेएनयू छात्रों के मार्च के चलते दिल्ली पुलिस ने एडवाइजरी कर कहा है कि लोक कल्याण मार्ग मेट्रो स्टेशन, उद्योग भवन, पटेल चौक स्टेशन पर गेट बंद रहेंगे और मेट्रो स्टेशन इन स्टेशनों पर रुकेगी नहीं. छात्रों के विरोध के देखते हुए इन मेट्रो स्टेशनों को बंद कर दिया गया है. 

4 : 45 बजे- लखनऊ यूनिवर्सिटी के छात्र भी फीस वृद्धि के खिलाफ चल रहे जेएनयू छात्रों के प्रदर्शन के समर्थन में उतर आए हैं. जेएनयू छात्रसंघ ने अन्य यूनिवर्सिटियों के छात्रों से उनके प्रदर्शन को सपोर्ट करने की मांग की थी. 

4 : 15 बजे- छात्रों के प्रदर्शन को गंभीर होता देख दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने आसपास के तीन मेट्रो स्टेशन केंद्रीय सचिवालय उद्योग भवन मेट्रो स्टेशन को बंद कर दिया है. मेट्रो स्टेशन के आसपास सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. 

3 : 45 बजे- फीस वृद्धि और नये हॉस्टल नियमों के खिलाफ जारी जेएनयू छात्रों का प्रदर्शन हिंसक हो गया है. छात्रों और पुलिस के बीच झड़प होने की खबर हैं. सफदरगंज इलाके में पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर लाठीचार्ज किया है. 

3 : 00 बजे- फीस वृद्धि और नये हॉस्टल नियमों के खिलाफ जारी जेएनयू छात्रों का प्रदर्शन उग्र हो गया है. छात्र पुलिस की तीसरी बैरिकेडिंग को तोड़ने पर उतारू हैं. लेकिन पुलिस ने छात्रों को आगे बढ़ने से रोक दिया है. पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए अब तक 200-300 से अधिक छात्र छात्राओं को हिरासत में ले लिया है. हिरासत में लिए गए छात्र छात्राओं को वसंतकुंज समेत कई अन्य थानों पर ले जाया गया है. 

1: 50 बजे- फीस बढ़ोतरी के खिलाफ जवाहर लाल यूनिवर्सिटी के छात्रों का महामार्च जारी है. करीब 2 से 3 हजार छात्र छात्राएं इस मार्च में शामिल हैं. मार्च के दौरान छात्रों की पुलिस के साथ भिड़ंत भी हुई है. हिरासत में लिए गए छात्रों को बसों में भरकर प्रदर्शन स्थल से दूर ले जाया जा रहा है. 

1 : 30 बजे- फीस वृद्धि और नये हॉस्टल नियमों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे जेएनयू के छात्रों की पुलिस के साथ धक्कामुक्की हुई है. पुलिस प्रदर्शनकारी छात्रों को रोकने की कोशिश कर रही है. कई छात्रों को हिरासत में ले लिया गया है. 

1: 20 बजे- पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे छात्रों को नियंत्रित करने के लिए वाटर कैनन समेत कई अन्य इंतजाम किए हैं. जेएनयू छात्रों के इस विरोध प्रदर्शन में शिक्षक भी शामिल है. बता दें कि जेएनयू छात्रसंख फीस वृद्धि और नये हॉस्टल नियमों के खिलाफ यह प्रदर्शन कर रहे हैं. हॉस्टल फीस में भारी बढ़ोतरी की वजह से जेएनयू प्रशासन और छात्रों के बीच टकराव काफी बढ़ गया है. 

1 : 10 बजे- फीस वृद्धि और नये हॉस्टल नियमों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे जवाहर लाल यूनिवर्सिटी के छात्रों को पुलिस ने बेर सराय रोड पर रोक दिया है. पुलिस का कहना है कि वह छात्रों के मार्च को संसद भवन की तरफ बढ़ने की इजाजत नहीं देंगे. 

1 : 00 बजे- जेएनयू गेट पर बने तीनों पुलिस बैरिकेड को तोड़कर 1000 से अधिक छात्र छात्राएं कैंपस से बाहर आ चुके हैं. वहीं गेट पर तैनात पुलिस ने छात्रों को आगे बढ़ने से रोकने के लिए मोर्चा संभाल लिया है. जेएनयू के छात्र के फीसी वृद्धि और नये हॉस्टल नियमों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं. 

12: 50 बजे- जेएनयू कैंपस में प्रदर्शन कर रहे छात्रों को कहना है कि उनकी मांगे सरकार व विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा नहीं मानी जा रही है. इसलिए हमने कैंपस से संसद तक विरोध मार्च निकालने का फैसला किया है.

12: 40 बजे- फीस वृद्धि और नये हॉस्टल नियमों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे छात्र जेएनयू कैंपस में मौजूद बैरिकेड पर चढ़ गए हैं और उसे तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं. छात्रों का हुजूम कैंपस में मौजूद पुलिस की आखिरी बैरिकेडिंग तक पहुंच गया है. 

12: 20 बजे- जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी टीचर एसोसिएशन ने छात्रों के प्रदर्शन के संबंध में वाइस चांसलर को पत्र लिखा. पत्र में जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी टीचर एसोसिएशन ने कैंपस में भारी पुलिस बल की तैनाती पर विरोध जताया है. 

12 : 00 बजे- फीस वृद्धि और नये हॉस्टल नियमों के खिलाफ जेएनयू छात्रों ने कैंपस से संसद भवन की तरफ पैदल मार्च शुरू किया. छात्रों ने कैंपस में लगाई गई पुलिस की बैरिकेडिंग को तोड़ दिया है.  छात्रों के मार्च को नियंत्रित करने के लिए जेएनयू गेट के बाहर धारा 144 लागू कर दी गई है. 

11 : 45 बजे- विवाद के निपटारे के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने यूजीसी के पूर्व चेयरमैन वीएस चौहान की अध्यक्षता में एक कमेटी गठित की है. यह कमेटी छात्रों और जेएनयू प्रशासन से बात करके विवाद का हल निकालने की कोशिश करेगी. 

11 : 15 बजे- जवाहर लाल यूनिवर्सिटी के गेट के बाहर धारा 144 लगाई गई. जेएनयू  के पूर्वी गेट को बंद कर दिया गया है. बाबा गंग नाथ मार्ग और अरुणा आसिफ मार्ग को बंद कर दिया है. जेएनयू छात्रसंघ फीस वृद्धि और नये हॉस्टल नियमों के खिलाफ कई दिनों से प्रदर्शन कर रहा है. 

10 : 45 बजे- जवाहर लाल यूनिवर्सिटी के हर गेट पर करीब 200 पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं. हर गेट पर दिल्ली पुलिस द्वारा बैरिकेटिंग की गई है. 

10 : 10 बजे- दिल्ली पुलिस ने 9 कंपनी फोर्स जवाहर लाल यूनिवर्सिटी कैंपस में तैनात की है. इस फोर्स में पैरामिलिट्री और दिल्ली पुलिस के भी जवान शामिल है. कैंपस में कुल 1200 पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं. 

9 : 37  बजे- नेल्सन मंडेला रोड, अरुणा आसिफ अली रोड और रंगनाथ मार्ग जानें से बचें, महरौली महीपालपुर रोड, अरविंदों मार्ग, आउटर रिंग रोड और एनएच 48 का इस्तेमाल करें.

9 : 34 बजे- फीस वृद्धि और नये हॉस्टल नियमों के खिलाफ जेएनयू छात्रों के मार्च को देखते हुए ट्रैफिक पुलिस ने ट्रैफिक एडवाइजरी जारी की है.

JNUSU Protest March to Parliment: फीस विवाद पर फिर भड़के जेएनयू छात्र, बोले- सरकार ने की सिर्फ मामूली कमी, सोमवार को छात्र संघ का कैंपस से संसद तक जुलूस

Shehla Rashid Sedition Case: राजद्रोह मामले में शेहला रशीद को दिल्ली कोर्ट से झटका, अग्रिम जमानत नहीं

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App