नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने 18 अगस्त रविवार को कहा कि जम्मू और कश्मीर से विशेष दर्जे को निरस्त करने के बाद अब लोगों को अपने जीवनकाल में भारत के साथ पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के मिलने के लिए प्रार्थना करनी चाहिए. जम्मू-कश्मीर में वर्तमान सामाजिक-राजनीतिक मामलों पर एक बैठक को संबोधित करते हुए कहा- हम खुशकिस्मत हैं कि यह काम हमारे जीवनकाल में हुआ. यह हमारी तीन पीढ़ियों के बलिदान के कारण है. इस ऐतिहासिक कदम के बाद हम पीओके को पाकिस्तान के अवैध कब्जे से मुक्त करने और इसे संसद में सर्वसम्मति से पारित संकल्प के अनुसार देश का अभिन्न हिस्सा बनाने की सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़ें.

हम प्रार्थना करते हैं कि हम देश के साथ पीओके के एकीकरण को देखें और लोग मुजफ्फराबाद (पीओके की राजधानी) में स्वतंत्र रूप से जाएं. वहीं जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्रियों उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती की गिरफ्तारी पर आलोचना के लिए कांग्रेस का नाम लिए बिना केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह अनावश्यक रूप से एक बड़ा मुद्दा बनाया जा रहा था.

किसी मजबूरी या कारण के तहत, सरकार ने शांति बनाए रखने के लिए कुछ कदम उठाए हैं. उन्होंने (कांग्रेस) ने नेशनल कॉन्फ्रेंस के संस्थापक शेख अब्दुल्ला को भी गिरफ्तार किया था लेकिन ऐसा कुछ कश्मीर में नहीं हुआ था. 

पूर्व प्रधान मंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने जम्मू और कश्मीर में शांति बहाल करने के लिए इन्सानियत (मानवता), जम्हूरियत (लोकतंत्र) के कश्मीरीयत के बारे में बात की थी. इस कदम से हमने जम्हूरियत (लोकतंत्र) को बहाल किया है और इसके लिए आवश्यक मुद्दों में भी सुधार किया है. अनुच्छेद 370 स्वतंत्रता के बाद का इतिहास था और शायद आजादी के बाद के भारत में सबसे बड़ा विस्फोट यही हुआ है.

Rajnath Singh on Pakistan Occupied Kashmir: जम्मू कश्मीर को लेकर बौखलाए पाकिस्तान को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की चेतावनी, बोले- अब जो बात होगी पीओके पर होगी

Jammu Kashmir Latest Updates: जम्मू कश्मीर में धीरे-धीरे सामान्य हो रहे हालात, कई इलाकों में फोन और इंटरनेट सेवाएं बहाल, धारा 144 में ढील

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App