अहमदाबादः गुजरात के विधायक और दलित नेता जिग्नेश मेवाणी ने एक बार फिर केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण और कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी पर निशाना साधा है. केंद्र द्वारा हाल ही में दिल्ली सरकार के नौ सलाहकारों की नियुक्ति को रद्द करने के बाद जिग्नेश मेवाणी ने ट्वीट किया कि अगर अगर स्मृति ईरानी अपनी येल यूनिवर्सिटी की फर्जी डिग्री से एचआरडी मंत्री बन सकती हैं तो एक असली रोड्स स्कोलर आतिशी मार्लेना से बीजेपी को इतना डर क्यों है? असली डिग्री के साथ वो शिक्षा में असली काम कर रही थीं इसलिए?”

बता दें कि आतिशी मार्लेना मनीष सिसोदिया की सलाहकार थीं. इस मामले पर जिग्नेश से पहले दिल्ली की डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने सरकार को टारगेट करते हुए कहा था कि “इस आदेश के पीछे का मकसद केवल आतिशी मार्लेना को निशाना बनाना है क्योंकि वे दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था में सुधार ला रही थीं. मैं बीजेपी को चुनौती देता हूं कि वे एक भी ऐसा राज्य ढूंढ दें जहां पर एक भी सरकारी स्कूल बंद नहीं किए गए और हम यहां दिल्ली में शिक्षा व्यवस्था में सुधार ला रहे हैं”.

इस मामले पर गृह मंत्रालय ने कहा था कि यह नियुक्तियां बिना केंद्र सरकार की मंजूरी के की गई थी और इन भूमिकाओं के लिए मंजूरी देना दिल्ली सरकार के दायरे से बाहर है. दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल के अधीन काम करने वाले सामान्य प्रशासन द्वारा नौ सलाहकारों की नियुक्ति को रद्द किया गया है. जिसके बाद एक बार फिर उपराज्यपाल और दिल्ली सरकार के बीच तनाव की स्थिति पैदा हो गई है.

यह भी पढ़ें- सलाहकार हटाए जाने पर BJP पर भड़के मनीष सिसोदिया, बोले- पीएम शिक्षा व्यवस्था कमजोर करना चाहते हैं

अहमदाबाद: अवैध शराब कारोबार के खिलाफ सड़क पर उतरे जिग्नेश मेवाणी, गोमतीपुर पुलिस स्टेशन पर समर्थकों का हंगामा

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App