Monday, June 27, 2022

जेट एयरवेज 3 साल बाद फिर उड़ान भरने की कर रहा है तैयारी, इस सप्ताह मिल सकता है एयर ऑपरेटर सर्टिफिकेट

नई दिल्ली। एयरलाइन जेट एयरवेज का फ्लाइट परमिट इस हफ्ते फिर से वैध हो सकता है। इससे पहले आज, कंपनी ‘प्रूविंग’ उड़ानों के अंतिम चरण का संचालन करेगी। डीजीसीए के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, जेट एयरवेज आज ‘सिद्ध’ उड़ानों के अपने अंतिम चरण का संचालन करने के लिए तैयार है, जिसके बाद इस सप्ताह उसके एयर ऑपरेटर सर्टिफिकेट (एओसी) को फिर से मान्य किए जाने की उम्मीद है।

क्या है प्रुविंग उड़ाने

बता दें कि ‘प्रूविंग’ उड़ानें यह दिखाने के लिए संचालित की जाती हैं कि संबंधित एयरलाइन पूरी सेवाएं देने में सक्षम है। प्रुविंग उड़ानें किसी भी अन्य व्यावसायिक उड़ान की तरह ही हैं। इन उड़ानों के साथ नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) के अधिकारी और संबंधित वाहक के अधिकारी और फ्लाइट क्रू शामिल होते हैं।

पहला चरण किया पूरा

बता दें कि जेट एयरवेज ने तीन साल से अधिक समय पहले उड़ान भरना बंद कर दिया था। इसे अब जालान कलरॉक कंसोर्टियम के स्वामित्व में फिर से बनाया जा रहा है। जेट एयरवेज ने ‘प्रुविंग’ उड़ानों का पहला चरण पूरा कर लिया है।

“जेट एयरवेज के ‘उड़ान परमिट के फिर से अनुमोदन’ की प्रक्रिया लगभग पूरी हो चुकी है,” डीजीसीए के एक अधिकारी ने सोमवार ये बात कही है। मंगलवार (17 मई, 2022) को कंपनी अपनी शेष ‘प्रुविंग’ उड़ानों का संचालन करेगी। उनका एओसी इस सप्ताह तक फिर से मान्य हो जाएगा।”

एयरलाइन के प्रवक्ता ने भी दी जानकारी

प्रक्रिया को सफलतापूर्वक पूरा करने के लिए विमान द्वारा कुल पांच लैंडिंग संचालित की जानी हैं। एयरलाइन के एक प्रवक्ता ने कहा कि वह शेष साबित होने वाली उड़ानों का संचालन करेगी। हालांकि, प्रवक्ता ने एओसी के पुनर्वैधीकरण पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

प्रवक्ता ने एक बयान में कहा, “हम अपनी बाकी उड़ानें 17 मई (मंगलवार) को संचालित कर रहे हैं। हम एओसी (एयर ऑपरेटर सर्टिफिकेट) के पुनर्वैधीकरण की तारीख पर टिप्पणी नहीं कर सकते क्योंकि यह डीजीसीए प्रक्रिया द्वारा निर्धारित किया जाएगा।”

यह भी पढ़ें:

Delhi-NCR में बढ़े कोरोना के केस, अध्यापक-छात्र सब कोरोना की चपेट में, कहीं ये चौथी लहर का संकेत तो नहीं

IPL 2022 Playoff Matches: ईडन गार्डन्स में हो सकते हैं आईपीएल 2022 के प्लेऑफ मुकाबले, अहमदाबाद में होगा फाइनल

SHARE

Latest news

Related news