पटना. बिहार में बीजेपी और जेडीयू के बीच गठबंधन जारी रहेगा. ये कहना है बिहार के सीएम और जेडीयू के अध्यक्ष नीतीश कुमार का. नीतीश कुमार ने शनिवार को कहा कि बिहार में बीजेपी और जेडीयू के गठबंधन में दरार की खबरें अफवाह है. दोनों पार्टियों का गठबंधन जारी रहेगा. इसके बाद ऐसा माना जा रहा है कि बिहार में जेडीयू 17 सीटों पर चुनाव लड़ सकते हैं. इस सिलसिले में नीतीश कुमार 12 जुलाई को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से मिलने वाले हैं. माना जा रहा है कि इन दोनों नेताओं की मुलाकात के दौरान बिहार में सीट बंटवारे के मामले को सुलझा लिया जाएगा.

रविवार को दिल्ली में आयोजित जेडीयू राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में प्रस्‍ताव पास किया गया. इस रिज़ोल्यूशन में पार्टी ने पीएम मोदी के वन नेशन वन इलेक्शन का समर्थन किया. साथ ही असम सिटीज़नशिप संशोधन बिल का विरोध किया. इस बीच पार्टी के प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा कि हम जेडीयू को बिहार से बाहर फैलाने की कोशिश में लगे हैं. उन्‍होंने कहा कि हम एनडीए का हिस्सा हैं और रहेंगे.

वहीं पार्टी के वरिष्ठ नेता केसी त्यागी ने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में सीटों के बंटवारे में बिहार में हमारी पार्टी बड़े भाई की भूमिका में होगी. त्यागी ने कहा कि अगर बिहार में 2019 के चुनाव के लिये सीटों का समझौता आसानी हो जाता है तो 2020 में बिहार विधानसभा चुनाव में कोई दिक्कत नहीं आएगी.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार बैठक में पार्टी प्रवक्ता केसी त्यागी, राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह और वशिष्ठ नारायण सिंह के अलावा तमाम वरिष्ठ नेता शामिल हुए. बैठक के बाद नीतीश कुमार ने अपनी पार्टी की मौजूदा स्थितियों को स्पष्ट किया.

जेडीयू के अधिकतर नेता नीतीश कुमार के बीजेपी के साथ गठबंधन के फैसले से सहमत दिखे. कुछ नेताओं ने कहा कि बीजेपी के साथ गठबंधन बिहार में जारी रहना चाहिए. हालांकि अभी ये स्थिति साफ नहीं है कि गठबंधन केवल बिहार में ही रहेगा या और प्रदेश में भी जारी रहेगा.

बिहार में शराब पीकर झूमते नजर आए उत्तराखंड सेल्स टैक्स के डिप्टी कमिश्नर, गिरफ्तार

RJD के स्थापना दिवस पर बोले तेजस्वी यादव- नीतीश कुमार को जल्द ठेंगा दिखाएगी बीजेपी, एक साथ हो सकते हैं लोकसभा और बिहार चुनाव

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App