नई दिल्ली. बीजेपी सांसद जयंत सिन्हा द्वारा झारखंड में मॉब लिंचिंग के आरोपियों को माला पहनाकर स्वागत किए जाने के बाद उनके पिता यशवंत सिन्हा ने ट्विटर पर अपना दर्द व्यक्त किया है. यशवंत सिन्हा ने लिखा है, ‘पहले मैं एक लायक बेटा का नालायक बाप था. अब उल्टा हो गया. ट्वीटर ऐसा ही है. मेरे बेटे ने जो किया वो गलत था. लेकिन मुझे पता है कि ये कहने से और गालियां मिलेंगी. आप कभी नहीं जीत सकते.’

झारखंड में पिछले साल मीट कारोबारी अलीमुद्दीन को भीड़ ने बीफ की अफवाह पर पीट-पीटकर मार डाला था. इस मामले में आठ लोगों को रांची हाई कोर्ट से आजीवन सजा के मामले में राहत मिली है. फास्ट ट्रैक कोर्ट ने मॉब लिंचिंग के आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी. हाई कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा पर रोक लगा दी है इसके साथ ही आरोपियों को जमानत मिल गई है.

ये सभी आरोपी हाई कोर्ट से मिली राहत की खुशी का इजहार करने झारखंड की हजारीबाग लोकसभा सीट से सांसद जयंत सिन्हा के आवास पर पहुंचे थे. जयंत सिन्हा ने फूलों की माला पहनाकर इनका स्वागत किया था. जयंत सिन्हा केंद्रीय मंत्री भी हैं. लिंचिंग के आरोपियों का स्वागत करते जयंत सिन्हा का फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था.

फोटो वायरल होने के बाद जयंत सिन्हा ने सफाई देते हुए कहा था कि न्यायिक और कानून व्यवस्था में मेरा पूरा विश्वास है. दुर्भाग्य से मेरे कार्यों के बारे में गैर जिम्मेदाराना बयान दिए जा रहे हैं जबकि मैं कानूनी दायरे में बंधा रहकर कार्य कर रहा हूं. उन्होंने कहा कि रामगढ़ लिंचिंग मामले की सुनवाई रांची हाई कोर्ट में चल रही है. कोर्ट ने आरोपियों की सजा पर रोक लगाकर उन्हें जमानत दे दी है. आरोपी को सजा मिलनी चाहिए. मैं जनता का प्रतिनिधि और मंत्री हूं. मैंने कानून बचाने की कसम खाई है और किसी को भी कानून हाथ में लेने का अधिकार नहीं है. जमानत मिलने पर ये लोग मेरे घर आए तो मैंने उन्हें शुभकामनाएं दीं.

जयंत सिन्हा के मॉब लिंचिंग आरोपियों के स्वागत पर बोले राहुल गांधी- ये सब नफरत और ध्रुवीकरण की राजनीति का नतीजा

बीफ के शक में मॉब लिंचिंग में मारे गए मीट कारोबारी अलीमुद्दीन मर्डर के आरोपियों का जेल से छूटने पर केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने किया स्वागत

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App