नई दिल्ली. कोरोना वायरस से बचने के लिए देशभर में लगे लॉकडाउन में अगर आप आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं और आपके पास जन धन खाता है तो आपके चिंता करने की जरूरत नहीं है. दरअसल नरेंद्र मोदी सरकार ने देश के 38 करोड़ जन धन खातों में 10 हजार रुपये तक की ओवरड्राफ्ट सुविधा दी है. इसका मतलब है कि अगर कभी आपको संकट में जरूरत पड़ती है तो ये रकम आपके काम आ सकती है. खास बात है कि अगर आप रकम ओवर ड्राफ्ट भी करते हैं तो इसपर मासिक ब्याज भी ज्यादा नहीं देना होगा.

जानकारी के अनुसार, जन धन खातों से यह रकम ओवरड्राफ्ट करने पर सभी बैंकों की ब्याज दरें अलग अलग हैं जो कि सालाना तौर पर 12 से 20 फीसदी तक हैं. अगर महीने के अनुसार हिसाब लगाएं तो मुश्किल यह दर 1 से 1.5 प्रतिशत तक जा सकती है. हालांकि, यह सुविधा परिवार में सिर्फ एक खाते पर ही दी जाएगी. वहीं अगर आप इस स्कीम के तहत खुलने वाले खाते से 2 हजार रुपए की राशि निकालते है तो इसपर कोई ब्याज नहीं देना होगा.

आपको बता दें कि जनधन खाता आप जीरो बैलेंस पर भी खुलवा सकते हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल 2014 में जनधन खातों की योजना का ऐलान किया था. मोदी सरकार की इस योजना के पीछे देश के पिछड़े और गरीब लोगों तक बैंक सुविधा पहुंचाने का लक्ष्य था जिससे उन्हें सरकारी कार्यों या किसी योजनाओं का लाभ लेने में परेशानी न हो.

Corona Lockdown Extended: कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए पीएम मोदी ने 3 मई तक बढ़ाया देशव्यापी लॉकडाउन

EPFO Sets UP Online System For EPF: कोरोना वायरस के चलते EPFO ने की कर्मचारियों,कंपनियों के तीन महीने के अंशदान की व्यवस्था, जानें सारी जानकारी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर