नई दिल्ली. जम्मू कश्मीर एनकाउंटर ( Jammu Kashmir Encounter ) में मारे गए शहीदों का आज अंतिम संस्कार किया गया. इस दौरान शहीदों के परिजन और कई लोग मौजूद रहे. पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी भी इस दौरान मौजूद थे. उन्होंने शहीदों के अंतिम दर्शन किए. बता दें बीते दिनों जम्मू कश्मीर के पूँछ जिले में एनकाउंटर के दौरान 5 जवान शहीद हो गए थे, जिनमे से 3 पंजाब के रहनेवाले थे. आज पूरे सरकारी सम्मान के साथ शहीदों का अंतिम संस्कार किया गया.

बहुत कम उम्र में सेना में शामिल हुए थे ये जवान

बीते दिनों जम्मू कश्मीर के पूँछ जिले में एनकाउंटर के दौरान 5 जवान शहीद हो गए थे, जिनमे से 3 पंजाब के रहनेवाले थे. आज पूरे सरकारी सम्मान के साथ शहीदों का अंतिम संस्कार किया गया. इनमें गज्जन सिंह भी शामिल थे. वे आतंकियों को ढेर करने के लिए एनकाउंटर में मोर्चा संभाल रहे थे, इसी दौरान शहीद हो गए. गज्जन रूपनगर जिले के पचरंदा गांव के रहने वाले थे और 4 महीने पहले ही शादी हुई थी. उनके परिवार में पत्नी हरप्रीत कौर हैं. गज्जन सिंह की चार महीने पहले ही शादी हुई थी. गज्जन सिंह चार भाइयों में सबसे छोटे थे, उनके तीनों बड़े भाई खेती किसानी का ही काम करते हैं इसलिए उन्हें किसानी से ख़ास लगाव था. अपनी शादी के बाद वो अपने पत्नी को ट्रैक्टर पर ही लेकर आए थे.

शहीद हुए जवानों में जसविंदर सिंह भी शामिल थे. उनका भी आज अंतिम संस्कार किया गया. जसविंदर के बड़े भाई राजिंदर सिंह जो खुद भी आर्मी से रिटायर्ड हैं, ने बताया कि जसविंदर ने 18 साल की उम्र में आर्मी ज्वॉइन कर ली थी. उन्होंने बताया कि उनके पिता कैप्टन (मानद) हरभजन सिंह भी आर्मी में थी. उनकी कुछ महीनों पहले कोरोना से मौत हो गई थी.

 

यह भी पढ़ें :

Manmohan Singh Health detoriorates : पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की तबियत नाज़ुक, एम्स में हुए भर्ती

Green Hydrogen: India’s Another Revolution in the Air ग्रीन हाइड्रोजन: हवा में भारत की एक और क्रांति

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर