Saturday, June 25, 2022

Jamia University Students Protest Over CAB: नागरिकता संशोधन विधेयक के विरोध में सड़कों पर जामिया यूनिवर्सिटी के छात्र, दिल्ली पुलिस का लाठीचार्ज, छोड़े आंसू गैस के गोले

नई दिल्ली. जामिया यूनिवर्सिटी के सैकड़ों बच्चे नरेंद्र मोदी सरकार के नागरिकता बिल के खिलाफ दिल्ली की सड़कों पर उतर गए. छात्रों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया और संसद कूच की तैयारी की लेकिन पहले ही दिल्ली पुलिस ने उन्हें रोक लिया. आगे न बढ़ने देने पर छात्र नाराज हो गए और पुलिस पर पथराव कर दिया. पुलिस ने हालात पर काबू पाने के लिए छात्रों पर लाठीचार्ज कर दिया. इस दौरान कई छात्र घायल भी हो गए.

सिटिजनशिप अमेंडमेंट बिल पारित होने के बाद छात्रों का विरोध सिर्फ जामिया ही नहीं, दिल्ली यूनिवर्सिटी में लगातार जारी है. छात्रों ने एकजुट होकर शहर की कई जगहों पर प्रदर्शन भी किया. इंडिया गेट पर छात्र प्रदर्शन करने पहुंचे. हालांकि, सरकार तक इन बच्चों की बात पहुंच रही है या नहीं, ये कोई नहीं जानता.

विरोध रहे छात्रों ने नरेंद्र मोदी सरकार नागरिकता संशोधन विधेयक और एनआरसी को मुस्लिम समुदाय से भेदभाव करने वाला बताया. छात्र बिल बोर्ड्स, चार्ट पेपर, नुक्कड़ नाटक, नारेबाजी हर तरह से सरकार के इस फैसले का विरोध कर रहे हैं.

https://www.instagram.com/p/B5-6mUKHOzY/

जामिया के छात्रों को थामने के लिए पुलिस ने चलाए आंसू गैस के गोले
छात्र संगठन विरोध करते हुए सड़कों पर पहुंचे तो उन्हें पुलिस ने रोका. नहीं मानें तो उनपर लाठी बरसाई, डंडे चलाए. हालात जब भी काबू नहीं हो सकी तो पुलिस आंसू गैस के गोले भी छोड़े. विरोध कर रहे छात्रों से पुलिस का रवैया मानों कुछ ऐसा जैसे देश के छात्र नहीं आतंकवादी हैं.

नरेंद्र मोदी के नागरिकता संशोधन बिल का देश के कई हिस्सों में विरोध
नागरिकता बिल का देश के कई हिस्सों में जमकर विरोध जारी है. असम में हालात पुलिस-प्रशासन सबके काबू से बाहर है. गृहमंत्री अमित शाह भी अपना शिलॉंग का दौरा कर चुके हैं. राज्यभर में कर्फ्यू लगा दिया गया. सेना तैनात है, इंटरनेट और फोन सेवाएं ठप्प हैं. बाजार, स्कूल, सरकारी दफ्तर सबकुछ बंद है. असम के साथ- साथ यूपी के अलीगढ़, फिरोजाबाद समेत कई शहरों में लोग सरकार के विरोध में सड़कों पर हैं.

Citizenship Amendment Bill Protest: नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ प्रदर्शन के चलते गुवाहाटी और डिब्रूगढ़ विश्वविद्यालयों में परीक्षाएं 16 दिसंबर तक स्थगित

Opinion On Assam Tripura Protest Over CAB: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी, अगर असमिया लोगों का आप पर भरोसा नहीं होता तो आपको 88 सीटें 2016 विधानसभा चुनाव में नहीं मिलती

SHARE

Latest news

Related news