नई दिल्ली: सीएए का समर्थन करने वाले 15 गैर मुस्लिम छात्रों को फेल करने वाले जामिया मिलिया इस्लामिया के प्रोफेसर को यूनिवर्सिटी ने सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के आरोप में सस्पेंड कर दिया है. इस मामले को गंभीरता से देखते हुए यूनिवर्सिटी प्रशासन ने प्रोफेसर को तत्काल प्रभाव से निकाल दिया है साथ ही उनके खिलाफ जांच भी बिठा दी है. प्रोफेसर की पहचान डॉ. अबरार अहमद के तौर पर हुई है. डॉ. अबरार ने अपने बचाव में कहा कि उन्होंने मजाक में ही अपने ट्विटर पर लिख दिया था कि उन्होंने सीएए का समर्थन करने वाले 15 गैर मुस्लिम छात्रों को परीक्षा में फेल कर दिया है. डॉ अबरार ने ट्वीट में लिखा था कि मेरे सभी छात्र पास हो गए हैं सिर्फ उन 15 गैर मुस्लिम छोड़कर जो सीएए का समर्थन कर रहे थे. 55 छात्र मेरे समर्थन में हैं.

गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को शाहीन बाग में करीब तीन महीने से चल रहे विरोध प्रदर्शन को कोरोना संक्रमण के खतरे के चलते खाली करवा लिया था. यही नहीं, प्रदर्शन खत्म करने का विरोध कर रहे कुछ लोगों को पुलिस ने हिरासत में भी ले लिया था. दिल्ली पुलिस के डिप्टी कमिश्नर आर पी मीणा ने कहा कि पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को जगह खाली करने को कहा मगर उन्होंने मना कर दिया, इसके बाद ही पुलिस ने जबरन प्रदर्शनस्थल को खाली करवाया और विरोध करने वालों को हिरासत में लिया. दिल्ली पुलिस ने जाफराबाद, जामिया मिलिया इस्लामिया और तुर्कमान गेट इलाके में भी सीएए और एनआरसी को लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शन स्थल को खाली करवा दिया है

इससे पहले 15 दिसंबर को दिल्ली पुलिस ने जामिया मिलिया इस्लामिया में सीएए और एनआरसी को लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शन को बलपूर्वक खत्म करवा दिया था. पुलिस ने छात्रों की भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठी चार्ज की थी और आंसू गैस के गोले दागे थे. वहीं जामिया के छात्रों का आरोप है कि उन्होंने पुलिस पर पत्थर नहीं चलाए बल्कि पुलिस ने ही उन्हें उनके हॉस्टलों में घुसकर मारा था.

HC on Anti CAA Protest Accused Poster: इलाहाबाद हाईकोर्ट से योगी आदित्यनाथ सरकार को झटका, प्रदर्शनकारियों के वसूली पोस्टरों को हटाने का आदेश

Kapil Mishra Gets Y+ Security: दिल्ली में दंगा भड़काने का आरोप झेल रहे बीजेपी नेता कपिल मिश्रा को मिली Y श्रेणी की सुरक्षा, जान से मारने की मिली थी धमकी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App