सीकर. अक्सर अपने विवादित बयानों की वजह से सुर्खियों में रहने वाले जैन मुनी विश्रांत सागर ने महिलाओं को लेकर एक बार फिर विवादित बयान दिया है. जैन मुनी विश्रांत सागर ने महिलाओं को सामाग्री बताया और एक सीमा में रहने की सलाह दी. जैन मुनि यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा कि समाज में होने वाले अपराधों में 95 फीसदी गलती महिलाओं की होती है. इसीलिए स्त्रियों को सीमा में रहना चाहिए.

जैन मुनी विश्रांत सागर ने सीकर मुख्यालय में यह विवादित बयान दिया. उन्होंने कहा कि महिलाओं को पीहर और ससुराल पक्ष दोनों की इज्जत बचानी होती है. उनकी एक लगती से दो परिवार नष्ट हो जाते हैं. महिलाओं को आज के समय में थोड़ा बचकर चलने की आवश्यकता होती है. आजकल समाज में हो रहे अपराधों में महिलाओं की ज्यादा गलती होती है. 

इसीलिए महिलाओं को सयंमित रहना चाहिए. जैन मुनी विश्रांत सागर ने  कहा की आज के समय में लड़कियों को पाश्चात्य संस्कृति यानि वेस्टर्न कल्चर के बहकावे में आने से बचना चाहिए. महिलाओं को अपने संस्कारों को ध्यान में रखकर शिक्षा हासिल करनी चाहिए. 

Asian Games 2018: रिक्शा चालक के बेटी स्वप्ना ने गोल्ड जीतकर रचा इतिहास, मंदिर में खुशी से खूब रोई मां

जैन मुनि महाराज रेप के आरोप में अरेस्ट, पीड़िता बोली- आशीर्वाद देने बुलाया था

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App