नई दिल्ली. जब आप इनकम टैक्स रिटर्न भरते हैं इसके साथ ही सेंट्रलाइज प्रोसेसिंग सेंटर का सारा काम पूरा हो जाता है उसके 20 से 45 दिन के अंदर टैक्स रिफंड हो जाता है। इस वर्ष बहुत से ऐसे लोग हैं जो शिकायत कर रहें हैं कि रिटर्न फाइल किए उन्हें 4 महीने से अधिक हो गए लेकिन उनका टैक्स पर रिटर्न अभी तक नहीं आया है। लेकिन वहीं कुछ लोग हैं जिन्हें टैक्स रिटर्न भरने के एक हफ्ते के बाद ही भुगतान मिल जाता है। आज आपको बताते हैं टैक्स रिफंड आने में क्यों होती है देरी।

आइटीआर को करें दोबारा से चेक

टैक्स भरने के दो महीने के अंदर रिर्टन को लेकर कोई जानकारी नहीं मिले तो सबसे पहले आप अपने आइटीआर को चेक करें। कितनी बार ऐसा होता है कि हड़बड़ी में या कई कारण की वजहों से हम रिटर्न फाइल करते वक्त कुछ गलती कर देते हैं। ऐसी स्थिति में ही हमारा रिटर्न आने में देरी होता है।

कई बार बहुत सारी सूचनाएं मांगता है

कई बार हमें कुछ बहुत सारी सूचनाएं देनी होती हैं या फिर इनकम टैक्स कुछ नई जानकारी मांगता है रिटर्न को रिफंड करने के लिए। ऐसे में समय पर रिटर्न ना आने पर यह जरूर चेक कर लें कि कहीं इनकम टैक्स डिपार्टमेंट आपसे कुछ नई जानकारी तो नहीं मांग रहा है। ऐसे डाक्यूमेंट को जल्द से जल्द जमा कर देना चाहिए।

अपने डाॅक्यूमेंट फिर से करें चेक

कई बार ज्यादा रिटर्न क्लेम करने पर भी आपको आपका रिटर्न नहीं आता है। ऐसी स्थिति में आपको इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की तरफ से कोई ना कोई जानकारी जरूर दी जाएगी। ऐसी स्थिति में आप अपने डाॅक्यूमेंट फिर से चेक करें। अगर सबकुछ सही तो आप फिर से क्लेम कर सकते हैं। लेकिन अगर गलत है तो आप नए एमाउंट की डिमांड करिए।

आइटीआर भरते समय हुई गलती

कई बार ऐसा होता है कि आप अपना फाॅर्म ही गलत भर दिया हो इस कारण भी पैसा नहीं आता है। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के नए नियमों के अनुसार अगर आप बैंक अकाउंट की जानकारी गलत देते हैं तब भी आपका पैसा रिफंड नहीं होता है। इसके साथ ही हमें ध्यान रखना चाहिए कि हमारा पैन नम्बर अकाउंट से जुड़ा हो।

क्या GAP Associates धोलेरा SIR का DLF बन पायेगा?

Dandi March Anniversary: साबरमती आश्रम से पीएम नरेंद्र मोदी ने सांकेतिक दांडी यात्रा को दिखाई हरी झंडी, कहा- ये एतिहासिक पल है

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर