नई दिल्ली. भारत का चंद्रयान 2 चंद्रमा के और करीब पहुंच गया है. मंगलवार देर रात 2 बजकर 21 मिनट पर चंद्रयान 2 ने धरती की कक्षा से बाहर निकल गया और चंद्रमा की तरफ बढ़ गया है. इसरो (ISRO) ने ट्रांस लूनर इंजेक्शन सफलतापूर्वक पूरा कर लिया.इस दौरान स्पेसक्राफ्ट का लिक्विड इंजन 1,203 सेकंड के लिए फायर किया गया जिससे 22 दिन तक धरती की कक्षा में रहने के बाद चंद्रयान 2 चांद की ओर निकल पड़ा.

चांद की ओर चंद्रयान 2 के सफर के बारे में इसरो के चेयरमैन ने के सिवन ने कहा, ‘चंद्रयान 2 चांद के रास्ते पर 6 दिन चलेगा और 4.1 लाख किलोमीटर की दूरी तय करते 20 अगस्त को चांद की कक्षा में पहुंचेगा.’ बता दें कि चांद से धरती की दूरी 3.84 लाख किलोमीटर है. चंद्रयान 2 को चांद के रास्ते पर भेजने के लिए इसरो ने पहले धरती के इर्द-गिर्द उसकी कक्षा को बढ़ाया था जिसका आखिरी चरण 6 अगस्त को पूरा कर लिया गया था.

चांद की सतह पर कुछ इस तरह पहुंचेगा चंद्रयान 2
चांद के करीब पहुंचने पर चंद्रयान 2 का प्रोपल्शन सिस्टम फिर से फायर होगा जिससे क्राफ्ट की स्पीड कम हो जाएगी. इससे यह चांद की प्रारंभिक कक्षा में रुक जाएगा. इसके बाद चांद की सतह से करीब 100 किमी की ऊंचाई पर चंद्रयान 2 चक्कर लगाएगा. सिवन ने बताया है कि प्रोपल्शन सिस्टम की मदद से चंद्रयान 2 की कक्षा को कम किया जाएगा.इसके बाद लैंडर विक्रम ऑर्बिटर से अलग हो जाएगा और चांद की कक्षा में दाखिल हो जाएगा. लैंडर के 6 सितंबर को 30 किमी की दूरी पर पहुंचने के साथ ही चांद की सतह पर उतरने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी.

Chandrayaan 2 Landing LIVE Quiz: चांद की सतह पर इसरो के चंद्रयान-2 की लाइव लैंडिंग देखना चाहते हैं तो स्टूडेंट MYGov App पर इस तरह क्विज कॉम्पिटिशन खेलकर पा सकते हैं मौका

ISRO Solar Mission 2020 Aditya-L1: चंद्रयान-2 मून मिशन के सफल प्रक्षेपण के बाद इसरो की सूर्य मिशन की तैयारी, 2020 में आदित्य-एल 1 सोलर मिशन होगा लॉन्च

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App