नई दिल्ली: पाकिस्तानी जेल में जासूसी के आरोप में फंसे पूर्व भारतीय नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव पर क्या टॉर्चर हो रहा है? एक अंग्रेजी वेबसाइट की खबर के मुताबिक, इस फोटो में उनकी गर्दन और सिर पर चोट के निशान दिखाई दे रहे हैं. इस बात का संदेह उस वक्त हुआ जब उनकी मुलाकात आज अपनी मां और पत्नी के साथ हुई. कई सालों तक संयुक्त राष्ट्र के लिए एक शीर्ष राजनयिक के रूप में काम करने वाले कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने मीडिया से बातचीत के दौरान बताया कि बहुत से लोग जो उनके मुकाबले ज्यादा जानकार है उनकी भी यही राय है कि कुलभूषण जाधव के गर्दन और सिर पर टॉर्चर के निशान हैं. ये बात कुलभूषण और उनकी मां और पत्नी के साथ हुई मुलाकात के दौरान ली गई तस्वीर में दिखाई दे रही है.

कुलभूषण जाधव के दाहिने कान पर चोट का निशान दिखाई दे रहा है. कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा मिलने के 8 महीनों बाद पाकिस्तान सरकार ने कुलभूषण जाधव के परिवार को मिलने की इजाजत दी है. जाधव की मां और पत्नी के साथ भारत के उप उच्चायुक्त जेपी सिंह भी पाकिस्तान आए थे. गौरतलब है कि कुलभूषण जाधव को जासूसी के आरोप में फांसी की सजा सुनाई गई है.

25 दिसंबर 2017 यानी की आज कड़ी सुरक्षा के बीच पाकिस्तान विदेश कार्यालय में कुलभूषण की मां और पत्नी उनसे मिलने के लिए पहुंची. तस्वीरों को देखने से इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि ये मुलाकात दबाव भरे माहौल में हुई. पाकिस्तान सरकार ने मुलाकात तो कराई लेकिन कुलभूषण जाधव को शीशे के एक और उनके परिवार को अन्य और बिठाकर रखा. इस मुलाकात के बाद पाकिस्तान का असली चेहरा तो तब सामने आया जब पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ मोहम्मद फैजल ने यहां तक कह दिया कि कुलभूषण जाधव पाकिस्तान में भारतीय आतंकवाद का चेहरा है.

पाकिस्तान ने बताया कुलभूषण जाधव और उनकी मां, पत्नी के बीच क्यों लगाई थी शीशे की दीवार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App