नई दिल्ली. वृद्ध व्यक्तियों का अंतर्राष्ट्रीय दिवस प्रतिवर्ष 1 अक्टूबर को उन मुद्दों और चुनौतियों का समाधान करने के लिए मनाया जाता है जिनका बुजुर्ग लोग सामना करते हैं और उनके समाधान की तलाश करते हैं। यह दिन बुजुर्ग लोगों की विशेष जरूरतों, अधिकारों और कल्याण पर केंद्रित है।

संयुक्त राष्ट्र (यूएन) के अनुसार, विश्व की जनसंख्या का 60 वर्ष और उससे अधिक आयु का वर्ग वर्ष 2015 में 900 मिलियन से बढ़कर वर्ष 2050 में 1.5 बिलियन से अधिक हो जाएगा। वृद्ध व्यक्तियों के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस का उद्देश्य दुनिया को बनाना है। बुजुर्गों के लिए सामाजिक देखभाल और स्वास्थ्य प्रावधानों की आवश्यकता के बारे में जागरूक।

इतिहास

बुजुर्गों के सामने आने वाली चुनौतियों के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए एक दिन अपनाने के उद्देश्य से पहल की गई थी, जिसमें वियना इंटरनेशनल प्लान ऑफ एक्शन ऑन एजिंग प्रमुख था। इस योजना को 1982 की वर्ल्ड असेंबली ऑन एजिंग द्वारा अपनाया गया था। बाद में उसी वर्ष संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) द्वारा इसका समर्थन किया गया।

14 दिसंबर 1990 को, UNGA ने अपनी 68वीं पूर्ण बैठक में संकल्प 45/106 के तहत 1 अक्टूबर को वृद्ध व्यक्तियों के अंतर्राष्ट्रीय दिवस के रूप में नामित किया।

थीम

इस वर्ष, संयुक्त राष्ट्र ने निर्णय लिया है कि वृद्ध व्यक्तियों के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस का विषय “सभी उम्र के लिए डिजिटल समानता” है। विषय डिजिटल दुनिया में बुजुर्ग लोगों की सक्रिय और सार्थक भागीदारी के साथ-साथ डिजिटल दुनिया को उनके लिए अधिक सुलभ बनाने पर जोर देता है।

संयुक्त राष्ट्र इस वर्ष बुजुर्गों को डिजिटल क्षेत्र में शामिल करने की आवश्यकता पर ध्यान केंद्रित करेगा। इसका उद्देश्य डिजिटलीकरण की प्रक्रिया से जुड़ी रूढ़ियों, भेदभाव और पूर्वाग्रह को स्वीकार करना भी है।

संयुक्त राष्ट्र उन नीतियों और कानूनी ढांचे को भी उजागर करेगा जो डिजिटल दुनिया में बुजुर्ग लोगों के लिए सुरक्षा और गोपनीयता सुनिश्चित करते हैं। यह संयुक्त राष्ट्र की आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार, “सभी उम्र के लिए एक समाज के लिए एक पारस्परिक व्यक्ति-केंद्रित मानवाधिकार दृष्टिकोण” के साथ-साथ बुजुर्ग लोगों के अधिकारों पर कानूनी रूप से बाध्यकारी साधन भी बनाएगा।

महत्व

इस दिन, लोग विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के साथ समाज में बुजुर्ग लोगों द्वारा दिए गए योगदान को स्वीकार करते हैं कि उनके लिए पर्याप्त स्वास्थ्य सेवा कैसे प्रदान की जाए।

Corona Update:देश में फिर तेजी से बढ़ने लगे कोरोना केस, पिछले 24 घंटे में मिले 26,727 नये मामले

LAC पर चीनी सैनिकों का फिर बढ़ने लगा जमावड़ा, भारत ने चीन को दिया ये जवाब

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर