नई दिल्ली, देश में भीषण गर्मी की वजह से कई राज्यों में हाहाकार मचा हुआ है जिससे बिजली की डिमांड काफी बढ़ गई है. कई जगह कोयले की कमी हो गई है जिससे बिजली की आपूर्ति पर भी प्रभाव पड़ा है. कोयले की कमी अगर लंबे समय तक रही तो बिजली की आपूर्ति पर काफी बुरा असर पड़ सकता है. दरअसल भारतीय रेलवे ने इस महासंकट से निपटने के लिए 20 दिनों तक लगभग 1100 ट्रेन ट्रिप्स को रद्द करने का फैसला किया है.

इस फैसले के बाद अब रेलवे ने लदी मालगाड़ियों को तेजी से निकालने की प्रयास कर रही हैं. जानकारी के मुताबिक एक्सप्रेस ट्रेनों की 499 ट्रिप्स जबकि पैसेंजर ट्रेनों की 582 ट्रिप्स रद्द की गई हैं। देश मे कोयले संकट से निपटने के लिए रेलवे ने कुल 1081 ट्रेनों को रद्द कर दिया है. रेलवे के इस फैसले पर निश्चित रुप से मालगाड़ियों को तीव्र गती से ढुलाई करने में मदद मिलेगी। वहीं इस फैसले से बिजली संकट से काफी हद तक निपटा जा सकता है.

भीषण गर्मी में होगी यात्रियों को परेशानी

दरअसल, रेलवे ने 20 दिनों तक ट्रेनों को बंद करने का जो फैसला लिया है इससे आम आदमी को काफी संकट उठाना पड़ेगा। वही रोजाना अपने व्यापार को लेकर इन ट्रेनों का इस्तेमाल करने वाले लोग भी परेशान होंगे। मालूम हो- उत्तर प्रदेश, राजस्थान, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, झारखंड, छत्तीसगढ़, और ओडिशा समेत कई राज्यों में कोयले संकट की वजह से बिजली की आपूर्ति हुई है. बता दें कि कई राज्यों में बिजली की कमी भी देखी जा रही है जिससे लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

पहले भी रद्द की थी 670 पैसेंजर ट्रेनें

पहले भी इस तरह की समस्या से मुक्त होने के लिए रेलवे ने ऐसा ही फैसला लिया था. एक महीने तक 670 पैसेंजर ट्रेनों को रद्द किया गया था. ताकि इससे माल गाड़ियों के फेरों को बढ़ाया जा सके. इस वजह से छत्तीसगढ़, ओड़िशा, मध्य प्रदेश और झारखंड जैसे कोयला उत्पादक राज्यों से आने वाले लोगों को काफी असुविधा हो रही है.

यह भी पढ़े:

गुरुग्राम के मानेसर में भीषण आग, मौके पर दमकल की 35 गाड़ियां

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर