नई दिल्ली: भारतीय रेलवे ने यात्रियों की सुविधा और कैशलेस को बढ़ावा देने के लिए 1 दिसंबर 2017 रेलवे के सभी रिजर्वेशन काउंटर्स ( PRS-पैसेंजर रिजर्वेशन सिस्टम) पर भीम एप्प और यूपीआई (UPI) की सुविधा से टिकट के पैसे दे सकते हैं. डिजिटल पेमेंटे को बढ़ावा देने के लिए रेलवे ने यह कदम उठाया है. अभी तक ऐसी सुविधा नहीं थी काउंटर्स पर नगद टिकट ही बुक किए जाते थे. ऐसे में आपको रिजर्वेशन टिकट के लिए टिकट काउंटर पर अब आपको ना तो नगद ले जाने की ज़रूरत है और ना ही डेबिट और क्रेडिट कार्ड. इसके लिए सिर्फ मोबाइल की ज़रूरत है जिसमें आपने ये एप्प डाउनलोड कर रखा है.

जानकारी के मुताबिक भीम एप्प से ट्रांजेक्शन चार्ज 3 महीने के लिए मुफ्त रहेगा. देशभर में 3500 लोकेशन पर करीब 4500 PRS काउंटर हैं. फिलहाल करीब 30 से 35 फीसदी तक PRS से टिकट बुक होता है और 70 प्रतिशत ई टिकटिंग से. रेलवे को ई टिकटिंग के जरिये 80 करोड़ की कमाई होती है तो PRS काउंटर से 30 करोड़ का टिकट बिकता है जिसमें करीब 2 से 3 फीसदी लोग डेबिट या क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं.

बता दें कि रेलवे रिजर्वेशन काउंटर पर कैश की किल्लत के कारण यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ता था. खासकर उन यात्रियों को ज्यादा जिनके पास 2000 की नोट होते थे. लेकिन अब ये समस्या खत्म हो जाएगी और कैश के लिए ज्यादा दौड़ भाग करने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी. यात्री भीम एप्प ओर यूपीआई बेस्ड पेमेंट सिस्टम से ही टिकट बुकिंग के पैसे का भुगतान कर सकते हैं. 

सीट कन्फर्म नहीं होने के बाद भी तत्काल टिकट से कर सकते हैं रेलवे में सफर, जान लें ये नियम

भारतीय रेलवे यात्रियों को दूषित पानी देना बंद करें : दिल्‍ली हाई कोर्ट

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर