नई दिल्ली. लीबिया में हालत बद से बदतर होते जा रहे हैं. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने राजधानी त्रिपोली में फंसे 500 भारतीयों को जल्द से जल्द देश छोड़ने की सलाह दी है. इस संबंध में सुषमा स्वराज ने ट्विट कर कहा है कि ”लीबिया से काफी लोगों को निकालने और यात्रा प्रतिबंध के बाद भी त्रिपोली में 500 से अधिक भारतीय नागरिक हैं. त्रिपोली में स्थिति तेजी से बिगड़ रही है. वर्तमान में, त्रिपोली एयरपोर्ट से भारत के लिए उड़ानें चालू हैं. अपने रिश्तेदारों और दोस्तों को तुरंत त्रिपोली छोड़ने के लिए कहें, वरना बाद में भारत सरकार उन्हें बाद में खाली नहीं पाएगी. ”

दरअसल, लीबिया में चल रहे विवाद के बीच त्रिपोली में रहने वाले भारतीय लोगों की परेशानी बढ़ गई है. भारत की ओर से उन्हें पूरी तरह सावधानी बरतने की सलाह दी जा रही है. इसके साथ ही हर संभव मदद की आश्वासन दिया गया है.

क्या है लीबिया में विवाद

तानाशाह मुअम्मर गद्दाफी की मौत के बाद से ही लीबिया में लगातार युद्ध के हालात बने हुए हैं. वर्तमान में लीबिया में अंतराष्ट्रीय समर्थन से सरकार चल रही है. ऐसे में कमांडर खलीफा और अन्य क्षेत्रीय कमांडर त्रिपोली पर कब्जा करने के लिए इस तरह के हमलों को अंजाम दे रहे हैं.

कमांडर खलीफा के त्रिपोली को कब्जे में करने के संघर्ष में हर रोज आम नागरिकों की जान जा रही है. पिछले कुछ दिनों से मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है. मंगलवार देर रात त्रिपोली की घनी आबादी के क्षेत्रों में बारूद के गोले भी दागे गए जिसमें काफी संख्या में लोग मारे गए. पिछले चार अप्रैल से राजधानी त्रिपोली में ऐसे हालत बने हुए हैं.

गुरुवार को विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से त्रिपोली की हालात पर जारी नई रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले 2 हफ्तों में इस लड़ाई में 18 आम नागरिकों सहित 205 लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि 913 लोग गंभीर रूप से घायल हैं. स्थिति को ध्यान में रखते हुए डब्ल्यूएचओ लोगों के इलाज के लिए मेडिकल विशेषज्ञों को तैनात कर रहा है.

लीबिया: मस्जिद के बाहर 2 कारों में बम धमाका, 33 लोगों की मौत

ISIS ISI Behind Pulwama Terror Attack: द संडे गार्जियन का खुलासा, पुलवामा आतंकी हमले के पीछे आईएसआईएस और पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर