नई दिल्ली. भारतीय सेना अब दुश्मनों को छक्के छुड़ाने के लिए हर समय तैनात है और हाल ही में सेना ने एक और सर्जिकल स्ट्राइक कर दी है. भारतीय सेना ने यह स्ट्राइक म्यांमार की सेना के साथ मिलकर की है और इस सर्जिकल स्ट्राइक में सेना ने 10 आंतकी कैंपों के तबाह कर दिया है. सेना की यह सर्जिकल स्ट्राइक 10 दिनों में पूरी हुई है जो 17 फरवरी से 2 मार्च के बीच हुई. इस बड़े ऑपरेशन में सेना ने कई चरणों में आतंकी ठिकानों को तबाह किया है, हालांकि सरकार ने इस सर्जिकल स्ट्राइक को सभी से छुपा के रखा जिसके बारे में अभी तक किसी को जानकारी नहीं दी है.

इस सर्जिकल स्ट्राइक को भारतीय सेना ने म्यांमार की सेना के साथ मिलकर इसलिए पूरा किया क्योंकि कोलकाता के हल्दिया पोर्ट को म्यांमार के सित्वे पोर्ट से जोडने के लिए एक इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट पर कार्य चल रहा है. जिससे दोनों देशों के बीच होने वाले ट्रैवल के समय में कम से कम 4 दिन की बचत होगी. वहीं इस प्रोजेक्ट पर आतंकियों की नजर थी और वह इसे नुकसान पहुंचान के लिए तैयारी भी कर रहे थे, इसी बीच सेना को खबर मिली की 3000 उग्रवादी मिजोरम के लवांगताला जिले में इस काम को अंजाम बनाने के लिए ठिकाना देख रहे हैं.

दोनों देशों की सेना ने इसके लिए एक बड़ा ऑपरेशन तैयार किया और भारतीय सेना ने उड़ी हमले के बाद हुई सर्जिकल स्ट्राइक और पुलवामा हमले के बाद हुई एयर स्ट्राइक की तरह इस ऑपरेशन को अंजाम दिया. इस हमले में दोनों देशों की सेना ने आतंकियों को खदेड़ दिया, इस ऑपरेशन को पूरा करने के लिए हेलिकॉप्टर्स, ड्रोन्स और कई तरह के सर्विलांस इक्यूपमेंट का इस्तेमाल किया गया.

Udham Singh Biopic: सर्जिकल स्ट्राइक के बाद अब फ्रीडम फाइटर उधम सिंह की बायोपिक में नजर आएंगे विक्की कौशल

IAF Strikes Pakistan: पाकिस्तान पर हवाई हमले के बाद सोशल मीडिया पर पाकिस्तान के खिलाफ जमकर चल रहे हैं ये चुटकुले

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App