नई दिल्ली: शंघाई कॉपरेशन ऑर्गरनाइजेशन समिट यानी एससीओ समिट में भारत और पाकिस्तान के बीच कोई द्विपक्षीय वार्ता तो नहीं हुई लेकिन दोनों देश आतंकवाद के खिलाफ एससीओ के सदस्य देश होने के नाते आंतकवाद के खिलाफ ऑपरेशन में शामिल होंगे. संगठन में निर्धारित दूसरे रक्षा संबंधी कार्यक्रमों के लिए भारत ने तय किया है कि सितंबर-अक्टूबर में दिल्ली में एससीओ मिलिट्री कॉन्फ्रेंस आयोजित की जाएगी. जानकारी के मुताबिक एससीओ की संयुक्त मिलिट्री एक्सरसाइज कजाकिस्तान के सारी आरका इलाके में होगी. जिसका मकसद आतंकवाद और ड्रग्स तस्करी को रोकना और उन्हें खत्म करना है. एससीओ रीजनल एंटी टैरर स्ट्रक्चर (RATS) ताशकंद में है जो संयुक्त अभ्यास की तारीखों का एलान होने का इंतजार कर रहा है. उम्मीद है कि ये एक्सरसाइज सितंबर में पूरी होगी.

गौरतलब है कि भारत और पाकिस्तान 2017 में एससीओ के पूर्ण सदस्य बने थे. भारत और पाकिस्तान के शामिल होने के बाद एससीओ ग्रुप में कुल आठ देश शामिल हैं. भारत-पाकिस्तान ने रूस में हुए एससीओ ज्वाइंट मिलिट्री एक्सरसाइज में भी हिस्सा लिया था. इस एक्सरसाइज में भारत, पाकिस्तान, चीन, रूस, तजाकिस्तान, कजाकस्तान, किर्गिस्तान और उजबेकिस्तान के जवान शामिल थे.

रैट्स टीम में भारत और पाकिस्तान के जवान शामिल हैं जो आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ने के लिए प्रतिबद्ध हैं. 13 और 14 जून को बिश्केक में हुए एससीओ समिट में आंतकवाद का एजेंडा सबसे ऊपर था. पीएम मोदी ने आतंकवाद को लेकर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि आंतकवाद खत्म करने को लेकर वैश्विक स्तर पर प्रयास करना जरूरी है.

हालांकि भारत ने साफ तौर पर नाम नहीं लिया लेकिन जैसे चोर की दाढ़ी में तिनके वाली कहावत है, ठीक उसी तरह भारत ने बातों ही बातों में आंतकवाद को लेकर पाकिस्तान को निशाने पर लिया. पीएम मोदी ने चीन, उज्बेकिस्तान, रूस समेत बाकी सभी देशों के राष्ट्राध्यक्षों के साथ द्विपक्षीय बातचीत की लेकिन पाकिस्तान के साथ उन्होंने कोई बातचीत नहीं की. भारत-पाकिस्तान के शीर्ष नेताओं के बीच मुलाकात हुई तो दोनों ने एक दूसरे से व्यवहार के तौर पर सिर्फ हाथ मिलाया.

PM Narendra Modi Bishkek SCO Summit LIVE Updates: बिश्केक में दो दिवसीय एससीओ समिट में हिस्सा लेने के बाद भारत लौटे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

Pakistan Rupees Record Low US Dollar: पल पल कंगाल हो रहा है पाकिस्तान, इमरान खान परेशान, पाक रुपया के सामने अमेरिकी डॉलर रिकॉर्ड ऊंचाई पर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App