महाराष्ट्र.  Farmers death  देश में किसान नए कृषि बिल के विरोध में प्रदर्शन कर रहे है. विरोधी पार्टियां भी किसानों के समर्थन में केंद्र सरकार को घेर रही है. पिछले कुछ सालों से किसानो की हत्या आम हो चुकी है. इसी क्रम में महाराष्ट्र के लातूर ज़िले के एक किसान ने आत्महत्या की है. ख़बरों के मुताबिक किसान की उम्र 24 वर्ष है, और बारिश के चलते उसकी फसल बर्बाद हो गई थी, जिसके बाद किसान ने यह कदम उठाया है. पुलिस के अनुसार घटना शिरूर अनंतपाल तहसील के डोगंरगावं में शुक्रवार रात हुई. मृतक किसान की पहचान अजित विक्रम बान के रूप में हुई है.

बैंक से लिया था 8 लाख का लोन

पुलिस ने बताय की अजित विक्रम बान के पास 4 एकड़ जमीन थी, जिसमें उसने फसल बोई हुए थी. लेकिन कुछ महीने पहले मराठवाड़ा क्षेत्र में हुई बारिश के कारण उसकी सारी फसल बर्बाद हो गई. फसल बर्बाद होने की वजह से वह परेशान था, जिसके बाद उसने यह कदम उठाया। बताया जा रहा है कि किसान ने बैंक से 8 लाख रूपये का लोन लिया हुआ था, और खाद, बीज में भी हजारों रूपये खर्च किए थे.

मृतक किसान ने ज़िले और स्थानीय नेताओं को पत्र लिखकर मुआवज़े की मांग की थी, लेकिन उसे इसका कोई खास फायदा नहीं मिला। इसी सब के चलते किसान ने बैराज में कूदकर आत्महत्या की है.

यह भी पढ़ें:

Haryana private job reservation law: अब निजी सेक्टर में 30,000 रुपये तक की 75% नौकरियां हरियाणवियों के लिए रिजर्व, नोटिफिकेशन जारी

Ramayan Yatra पहली ट्रेन से 132 श्रद्धालु पहुंचे अयोध्या

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर