नई दिल्ली. Farm Laws Repel संसद के शीतकालीन सत्र के पहले दिन ही संसद के दोनों संदनों से कृषि वापसी बिल पारित हो गया है. कृषि कानून वापसी बिल को पहले लोकसभा में 12 बजे पेश किया गया, जिसे बिना चर्चा के चार मिनट के भीतर पास कर दिया गया. इसपर विपक्ष ने जमकर हंगामा किया लेकिन संसद को मंगलवार तक के लिए स्थगित कर दिया गया. लोकसभा के बाद दोपहर 2 बजे कृषि वापसी बिल को राज्यसभा में पेश किया गया, जहां पर कुछ ही मिनटों में इसे पास कर दिया गया. आपको बता दें संसद के इस शीतकालीन सत्र में सरकार कृषि कानून वापसी बिल के अलावा 36 बिल लेकर आ रही है.

विपक्ष के हंगामे के चलते दोनों सदनों को किया गया स्थगित

कृषि कानून वापसी बिल दोनों सदनों से सोमवार को पास हो गए हैं. राष्ट्रपति की मंजूरी मिलने के बाद तीन कृषि कानून खत्म हो जाएंगे। एमएसपी पर गारंटी कानून बनाने की मांग पर सहमति जताते हुए विपक्ष भी इस पर कानून बनाने की मांग पर आज अड़ा रहा। विपक्ष ने लोकसभा के बाहर गांधी प्रतिमा के सामने खड़े होकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और एमएसपी पर तत्काल कानून बनाने की मांग की। विपक्षी नेताओं के हंगामे के मद्देनजर दोनों सदनों को मंगलवार तक के लिए स्थगित कर दिया गया।

आंदोलन रहेगा जारी- टिकैत

कृषि कानूनों के दोनों सदनों में रद्द होने के बावजूद भी किसान आंदोलन खत्म करने के मूड में नहीं है. किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि यह तो होना ही था, लेकिन आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि हम एमएसपी समेत तमाम अन्य मुद्दों पर किसी चर्चा के बिना आंदोलन से नहीं हटेंगे।’ राकेश टिकैत ने कहा आज पारित हुए तीनो कृषि कानूनों का श्रेय शहीद हुए 700 किसानो को जाता हैं.

यह भी पढ़ें:

Indian Railway: रेलवे ने दिया यात्रियों को तोहफा, इन ट्रेनों में जनरल टिकट से कर सकेंगे सफर

Manishankar Iyer on iTV Network: गांधी परिवार के अलावा कांग्रेस में किसी की स्वीकृति नहीं

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर